धनतेरस और दिवाली पर यदि आप भी सोना खरीदने की सोच रहे हैं तो जरा सावधान हो जाने की जरूरत है। क्योंकि इस सीजन में नकली सोना बेचने वाली गैंग सक्रिय हो चुकी है। ऐसे लोगों की ठगी का शिकार होने से बचने के लिए पुलिस द्वारा चेतावनी भी जारी की गई है। गुवाहाटी पुलिस ने हाल ही में हाथीगांव इलाके से इस तरह के मामले में दो लोगों को पकड़ा है जिनके पास से 3 किलोग्राम डमी गोल्ड जब्त किया है। पकड़े गए लोगों ने बताया कि वो लोगों को फंसाने के लिए इस डमी गोल्ड को काम में लेते हैं।

पुलिस एक गाइडलाइन जारी की है जिसमें बताया गया है कि कैसे ये गैंग लोगों के साथ सोने की ठगी करती है जो इस प्रकार है—

— ठगी करने वाले लोग ग्राहक को फोन कॉल करते हैं और कहते हैं कि उनके पास 1, 2 या 3 किलो सोना है।

— ग्राहक को भरोसे में लेने के लिए वो लोग जिस जगह पर सोने की गांठ में से एक टुकड़ा काटते हैं उसका वीडियो भेजते हैं।

— इसके बाद ग्राहक को सोने की गांठ में से काटे गए टुकड़े जैसा हूबहू टुकड़ा सेंपल के तौर पर बिल्कुल फ्री भेजते हैं और कहते हैं कि सोना चेक कर लें।

— इसके बाद टारगेट किया हुआ ग्राहक सोने के टुकड़े को उसकी सत्यता जांचने के लिए ज्वेलर के पास ले जाता है जो टेस्ट में सही पाया जाता है। इसके बाद वो ठगी करने वालों पर विश्वास कर लेता है।

— इसके बाद ठगी करने वाले सोने की पूरी गांठ की कीमत 4 से 5 लाख रूपए मांगते हैं।

— सोना खरीदने वाला ठगी करने वालों को पेमेंट कर देता है जिसके बाद वो गांठ की जांच करता है तो वो नकली निकलता है और ठगी का शिकार हो जाता है।

— इसके बाद ठगी करने वाले शातिर लोग कभी भी उस ग्राहक की नजर में नही आते।