इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने देश में 2 साल के अंदर हो रहे चौथे चुनाव में अपनी जीत होने का दावा किया है। उनकी यह घोषणा इजरायल के मुख्य 3 टीवी चैनलों पर आए एग्जिट पोल के 2 घंटे से भी कम समय में आई है। इन एग्जिट पोल में इशारा किया गया है कि राजनीतिक गतिरोध के चलते इन चुनावों में तत्काल कोई विजेता घोषित नहीं हो पाएगा।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, नेतन्याहू ने मंगलवार की रात ट्विटर पर लिखा, दक्षिणपंथी और लिकुड (पार्टी) की बड़ी जीत। साथ ही कहा, यह स्पष्ट है कि इजरायल के लोगों का स्पष्ट बहुमत दक्षिणपंथ के साथ है। यहां के लोग एक स्थिर और मजबूत दक्षिणपंथी सरकार चाहते हैं जो इजरायल की अर्थव्यवस्था और सुरक्षा का ध्यान रखेगी।

सरकार बनाने के लिए नेतन्याहू ने 3 दक्षिणपंथी दलों के नेताओं के साथ फोन पर बात की, जो पहले से ही उनके नेतृत्व में गठबंधन में शामिल होने की बात कह चुके हैं। एग्जिट पोल के अनुसार उन्होंने मिलकर 53-54 सीटें जीती हैं। यामिना पार्टी की नेता नफतली बेनेट ने कहा कि उन्होंने नेतन्याहू के साथ फोन पर बातचीत भी की। पोल के मुताबिक यामिना ने 7 सीटें जीती हैं। यदि नेतन्याहू के पूर्व करीबी सहयोगी बेनेट गठबंधन में शामिल होने का फैसला करते हैं तो वे 120 सीटों वाली संसद में 61 सीटों का गठबंधन बना सकते हैं।