बेंगलुरू से एक चौंकाने वाली सामने आई है। यहां एक 40 वर्षीय व्यक्ति ने गुस्से में आकर पहली पत्नी से हुए अपने तीन छोटे बच्चों को लोहे की रॉड से पीट-पीटकर लहूलुहान कर दिया। पुलिस के अनुसार, व्यक्ति की पहचान सेल्वम के रूप में हुई है, जो एक निर्माण स्थल पर काम करता है और वह बेंगलुरु के दक्षिणी उपनगर के एक इलाके जेपी नगर में रहता है।

पुलिस ने कहा कि सेल्वम ने सत्या से शादी की है, जो उसकी दूसरी पत्नी है। उसने अपनी पहली पत्नी की मृत्यु के बाद लगभग दो साल पहले उससे शादी की थी। सेल्वम के तीन छोटे बच्चे थे, जिनकी उम्र लगभग आठ, छह और चार साल है। इनमें से दो लड़के हैं और सबसे छोटी लड़की है। पुलिस ने कहा कि विक्टोरिया अस्पताल के महाबोधि बन्र्स सेंटर में बच्चों का इलाज चल रहा था, जो राज्य की केवल दो विशेष बर्न इकाइयों में से एक है जो थर्ड-डिग्री बर्न से निपटने के लिए सक्षम हैं।

पुलिस मौके पर पहुंची जब पड़ोसी सेल्वम को उसके बच्चों पर लोहे की लाल-गर्म रॉड से वार करते हुए देखा गया। सनकी पिता ने उन्हें पैर, कंधे, पीठ पर बुरी तरह वार किया। पिटाई करते समय उसे यह कहते हुए सुना गया कि उनके बच्चे बैठने या खड़े होने या ठीक से चलने में सक्षम नहीं होंगे। पुलिस ने कहा कि सेल्वम ने दूसरी शादी के बाद पहली पत्नी से अपने बच्चों पर अत्याचार करना शुरू कर दिया था और यह उसके घर में यह एक रोजाना होने लगा था कि सभी बच्चों को उनके काम से आने के बाद या काम पर जाने से पहले नियमित रूप से पीटता था। पुलिस ने दावा किया, पड़ोसी उसके क्रूर दंड के गवाह रहे हैं। कई मौकों पर, पड़ोसियों ने बच्चों की दुर्दशा को देखने में असमर्थ होने पर उसके बच्चों को उससे बचाया है। अक्सर उन्हें ठीक से खाना भी नहीं दिया जाता था। उसने चार साल की बच्ची को भी नहीं बख्शा। वह अक्सर उन्हें लात मारता और डंडे से पीटता था। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच कर रही है।