पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी कार्यकर्ता के शव मिलने से राजनीतिक गलियारों में खलबली मच गई है। बंगाल के दिनहाता में पार्टी ऑफिस के पास बीजेपी मंडल अध्यक्ष का शव फंदे से लटका हुआ पाया गया है। बीजेपी ने सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पर हत्या का आरोप लगाया है। बीजेपी ने कहा कि 'यह पूर्वनियोजित हत्या है।

 

 


 

 

बीजेपी ने टीएमसी पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी डर के चलते घर पर बैठे रहने वालों में से नहीं, हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे और लोगों को टीएमसी का असली चेहरा  दिखाएंगे '। मृतक की पहचान अमित सरकार के रूप में हुई जो दिनहाता के मंडल अध्यक्ष थे। पुलिस इस मामले की जांच करने में जुटी हुई है। पुलिस हत्या या आत्महत्या की गुत्थी सुलझा रही है।

 


 

बंगाल बीजेपी ने दावे के साथ आरोप लगाया है कि 'अमित सरकार, दिनहाता कस्बे के मंडल अध्यक्ष को टीएमसी के गुंडों ने पहले चरण के चुनाव से 72 घंटे पहले मारकर टांग दिया है। वह हमें डराने की कोशिश कर रही है लेकिन हम डरने वालों में से नहीं, दिलीप घोष पर की हमले हुए थे लेकिन उन्होंने डटकर मुकाबला किया था '। भाजपा ने कहा कि 'बंगाल के लोग इस खून की प्यासी सरकार के खिलाफ हैं '।