सर्दियों के मौसम में चुकंदर (beetroot) खाने काफी फायदेमंद माना जाता है। हालांकि सीमित मात्रा में चुकंदर खाने से कई बीमारियों से बचा जा सकता है, लेकिन ज्यादा खाने से इसके साइड इफेक्ट (Side Effects Of Beetroot) भी देखने को मिल सकते हैं।

विशेषज्ञों का कहना है कि चुकंदर (beetroot) का अत्यधिक सेवन करने से लिवर की भी समस्या (liver problems) हो सकती है। चुकंदर में कॉपर, आयरन, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम होते हैं। ज्यादा मात्रा में ये मिनरल्स लिवर में जाकर जमा होने लगते हैं और इसे नुकसान पहुंचाते है। चुकंदर ज्यादा खाने से शरीर में कैल्शियम की मात्रा कम होने लगती है जिससे हड्डियों की समस्या (bone problems) बढ़ जाती है।

एक रिसर्च के अनुसार, चुकंदर ऑक्सलेट से भरपूर होते हैं और इनकी वजह से पथरी (stones) बनती है। अगर आपको पहले से ही पथरी की समस्या है तो डॉक्टर आपको चुकंदर या इसके जूस का सेवन बंद करने की सलाह दे सकते हैं। चुकंदर (beetroot) में पाए जाने वाला ऑक्सलेट किडनी स्टोन (beetroot juice side effects kidney) को ज्यादा बढ़ा सकता है।

वहीं बहुत ज्यादा चुंकदर (beetroot) खाने वालों में बीटुरिया की समस्या भी हो सकती है। इसकी वजह से यूरीन का रंग बदलकर गुलाबी या गहरा लाल हो जाता है। आयरन की कमी वालों में ये दिक्कत ज्यादा देखने को मिलती है। ज्यादा चुकंदर खाने से मल का रंग भी लाल या काला पड़ सकता है। आमतौर पर बीटुरिया की समस्या कोई खास गंभीर नहीं होती है और ये अपने आप ठीक भी हो जाती है।