उत्तराखंड में मानसून ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है। यहां पर पहाड़ी इलाकों में मानसून ने मुश्किलें खड़ी कर दी हैं। पिथौरागढ़ और चमोली जैसे सीमांत ज़िलों के साथ ही ऋषिकेश जैसे इलाकों में भी नदियां उफान मार रही है। नदियों के उफान से बाढ़ के हालात बन रहे हैं।  पिथौरागढ़ में घाट नेशनल हाईवे, चमोली में बद्रीनाथ नेशनल हाईवे बंद होने की खबर है। नदी के उफान से हालात गंभीर होते नजर आ रहे हैं।


नदियों में जलस्तर बढ़ने से राज्य के कंट्रोल रूम ने ऋषिकेश में गंगा नदी के किनारों पर अलर्ट जारी किया है। पिथौरागढ़ की बंगापनी तहसील से जोखिम और खतरे की बानगी देती तस्वीरें सामने आ रही हैं। भारी बारिश के चलते नदियां उफान पर हैं और इसके साथ ही, भू कटाव हो रहा है, तो कहीं भूस्खलन हो रहा है। जमीन के कटाव के कारण आस पास इलाकों में अलर्ट जारी किया है।


अलकनंदा नदी में जलस्तर बढ़ जाने के बाद स्टेट कंट्रोल रूम ने अलर्ट जारी करते हुए ऋषिकेश में गंगा नदी के किनारों पर अतिरिक्त सतर्कता बढ़ाने की हिदायतें दीं। पिथौरोढ़ में धौलीगंगा समेत सरयू और काली नदियों के उफान पर है। अल्मोड़ा में भी भारी बारिश के चलते आधा दर्जन से ज़्यादा सड़कें टूट जाने से ग्रामीण इलाकों से संपर्क कट गया है। बिजली कई गांवों में गुल बताई गई है। टनकपुर पिथौरागढ़ जैसे कुछ रास्तों पर मलबा बहकर आ रहा है, तो कुछ रास्तों पहाड़ों से पत्थर गिर रहे हैं।