अगर बैंक में आपका कोई जरूर काम हो तो उसे बीस दिसंबर तक निपटा लें, नहीं तो आपका काम अब 26 दिसंबर के बाद होगा। चालान, ड्राफ्ट और चेक से पेमेंट लेने वाले गुरुवार तक लेनदेन कर लें, क्योंकि 21 से 26 दिसंबर के बीच पांच दिन बैंक बंद रहेंगे। दरअसल, ऑल इंडिया ऑफिसर कन्फडरेशन के आह्वान पर 21 दिसंबर को बैंक कर्मी केंद्र की नीति के विरोध में हड़ताल पर रहेंगे। 22 को महीने का चौथा शनिवार और 23 को रविवार होने के कारण बैंकों में छुट्टी रहेगी।

सोमवार 24 को बैंक की शाखाएं खुलेंगी। अगले दिन 25 को बड़ा दिन का अवकाश है और 26 को यूनाइटेड फोरम की तरफ से फिर बैंकों में हड़ताल है। इतने दिनों तक बैंक बंद होने की वजह से खाताधारकों के चेकों के क्लीयरेंस में बाधा आ सकती है और लोगों को कैश की किल्लत झेलनी पड़ सकती है।

 केंद्र सरकार के गलत फैसला, विलय का विरोध, लंबित वेतन वृद्धि सहित अन्य मांगों को लेकर बुधवार से बैंक कर्मियों ने अपना आक्रोश व्यक्त करना शुरू कर दिया है। बुधवार को सभी बैंक के कर्मी और अधिकारी बैज लगाकर कामों का निपटारा किया। यह विरोध 20 तक जारी रहेगा। बैंक यूनियन आइबॉक के जिला सचिव प्रशांत कुमार मिश्र ने ने कहा 20 दिसंबर को एसबीआइ से घंटाघर तक सरकार के उपरोक्त नीतियों के विरोध में बैंक अधिकारियों की एक बड़ी रैली निकाली जाएगी ।