इंडियन बैंक असोसिएशन (IBA) ने इस महीने में दूसरी बार बैंक हड़ताल का आह्वान किया है। सैलरी को लेकर बातचीत विफल होने के बाद बैंक यूनियन ने हड़ताल का ऐलान किया है। IBA की तरफ से 31 जनवरी और 1 फरवरी को बैंक हड़ताल होगी।


इस बार बैंक हड़ताल का समय काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि 1 फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट पेश करेंगी। उससे ठीक एक दिन पहले 31 जनवरी को आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट पेश की जाएगी। बजट को लेकर तैयारी आखिरी चरण में है और सरकार के सामने सुस्ती की समस्या से निपटना सबसे बड़ी चुनौती है।
बैंक कर्मचारी और अधिकारियों के बैंक हड़ताल में शामिल होने से बैंकिंग सेवाओं पर काफी असर पड़ सकता है। बैंकों की कई शाखाएं बंद रह सकती हैं, क्योंकि बैंक यूनियनों ने कर्मचारियों को चाबियां स्वीकार नहीं करने को कहा है। इसको लेकर कई स्थानों पर एटीएम सेवाएं भी प्रभावित हो सकती हैं, लेकिन नेट बैंकिंग सामान्य रूप से कार्य करने की संभावना है, क्योंकि NEFT ऑनलाइन स्थानान्तरण अब 24x7 उपलब्ध है।
आपको बता दें कि 31 जनवरी 2020 को शुक्रवार है। 1 फरवरी 2020 को शनिवार है और 2 फरवरी को रविवार है। इसीलिए इस महीने के अंत में और फरवरी की शुरुआत में बैंक बंद करेंगे। बैंक बंद रहने पर एटीएम में कैश की भी किल्लत होगी।