BoB, Dena और Vijaya Bank के खातेदारों के लिए जरा सावधान हो जाने की जरूरत है। क्योंकि इन तीनों ही बैंको का सरकार ने 1 अप्रैल 2019 से विजया बैंक और देना बैंक का बैंक ऑफ बड़ौदा में विलय कर दिया था। इसके बाद अब बैंक ऑफ बड़ौदा ने कहा है कि उसने देना बैंक की 1,770 शाखाओं के एकीकरण का काम दिसंबर 2020 में पूरा कर लिया है। इसके अलावा विजया बैंक की 2,128 शाखाओं को सितंबर 2020 में एकीकरण कर लिया गया था।

बैंक के प्रबंध निदेशक और सीईओ (मुख्य कार्यपालक अधिकारी) संजीव चड्ढ़ा ने कहा है कि हमने कोविड-19 चुनौतियों के बीच पूर्ववर्ती बैंकों के सफलतापूर्वक विलय का काम पूरा कर लिया है। हम एक बार फिर अपने सभी सम्मानित ग्राहकों का स्वागत करते हैं और उनसे बैंक ऑफ बड़ैदा के प्रोडक्ट्स तथा डिजिटल सॉल्यूशन का लाभ उठाने का आग्रह करते हैं।

उनके अनुसार 5 करोड़ से अधिक ग्राहकों के बैंक खातें अब बैंक ऑफ बड़ौदा में आ गये हैं। इसके अलावा सभी शाखाओं, एटीएम, पीओएस मशीनों और क्रेडिट कार्डों का एकीकरण सफलतापूर्वक किया जा चुका है। बैंक ने कहा कि सभी ग्राहकों की अब पूरे भारत में कुल 8,248 घरेलू शाखाएं और 10,318 एटीएम हैं, जो उन्हें अपने संपूर्ण उत्पादों और सेवाओं तक पूरी पहुंच प्रदान करेंगे। सभी ग्राहकों को अब बैंक के डिजिटल चैनलों तक पहुंच प्राप्त होगी। बैंक ने कहा कि पूर्ववर्ती बैंकों द्वारा ग्राहकों को पहले से जारी किए गए डेबिट कार्ड तब तक काम करते रहेंगे, जब तक कार्ड की निर्धारित अवधि समाप्त नहीं हो जाती।