बांग्लादेश पुलिस ने पुष्टि की है कि ढाका के मोघबाजार इलाके में एक तीन मंजिला इमारत के भूतल पर हुए भीषण विस्फोट में कम से कम 7 लोगों की मौत हो गई और 70 से अधिक घायल हो गए। एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि अग्निशमन सेवा और नागरिक सुरक्षा की पांच सदस्यीय जांच समिति ने रविवार शाम विस्फोट की जांच शुरू की और तीन दिनों के भीतर रिपोर्ट सौंपेगी।

अग्निशमन सेवा और नागरिक सुरक्षा के अधिकारियों को संदेह है कि इमारत के भूतल पर स्थित शवर्मा हाउस में दो एलपीजी गैस सिलेंडर फट गए होंगे। अग्निशमन सेवा और नागरिक सुरक्षा के महानिदेशक (डीजी) सज्जाद हुसैन ने बताया, तीन मंजिला इमारत के भूतल पर स्थित ते शवर्मा हाउस में विस्फोट हुआ होगा। यह हमारा प्राथमिक संदेह है। इस बीच, ढाका मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के शेख हसीना नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी के प्रमुख सामंतलाल सेन ने बताया कि गंभीर रूप से झुलसे पांच लोगों में से तीन इस समय कोमा में हैं।

हताहतों में से केवल तीन की पहचान अब तक 23 वर्षीय जन्नत अख्तर, उनकी नौ महीने की बेटी सुभाना और 35 वर्षीय मोहम्मद स्वपन के रूप में हुई है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, विस्फोट के तुरंत बाद शाम करीब 7.35 बजे धुआं पूरे इलाके में फैल गया। एक प्रत्यक्षदर्शी महसूमा साफा ने बताया कि विस्फोट के परिणामस्वरूप इमारत का एक हिस्सा तुरंत गिर गया, जबकि पास की सडक़ पर खड़ी तीन बसों के शीशे और बगल की इमारत की खिडक़ी के शीशे टूट गए। आग की लपटों पर काबू पाने के लिए दमकल की कम से कम 15 गाडिय़ां मौके पर पहुंचीं, जबकि मलबे के नीचे और फंसे लोगों की तलाश के लिए तलाशी और बचाव अभियान जारी है।