बांग्लादेश में हिंदुओं के खिलाफ हिंसा के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है। हिंदुओं के त्योंहार दुर्गा पूजा (Durga Puja) पर 13 अक्टूबर से शुरू हुई हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही। यहां के कोमिल्ला में दुर्गा पूजा पंडालों में हमले के बाद रंगपुर के उपजिला पीरगंज में हिंदुओं के घरों को आग लगा दी गई। यह घटना पीरगंज के एक गांव रामनाथपुर यूनियन में माझीपारा के जेलपोली में घटी है। यहां पर मुस्लिम कट्टरपंथियों ने हिंदुओं के 65 घरों को आग लगा दी।

खबर है कि यह मामला भी सोशल मीडिया पोस्ट (Social Media Post) से जुड़ा हुआ है और एक हिंदू शख्स के फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट के बाद ही तनाव पैदा हो गया था। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर इस युवक को सुरक्षा मुहैया कराते हुए उसके घर को तो सुरक्षित कर लिया लेकिन उपद्रवियों ने उसी लोकेशन में आसपास के घरों में आग लगा दी। ये उपद्रवी जमात-ए-इस्लामी (jamat e islami) और छात्र शाखा इस्लामी छात्र शिविर की स्थानीय इकाई के थे।


यह भी पढ़ें— लड़की ने रेलवे स्टेशन पर 'सात समंदर पार' गाने पर किया गजब डांस, देखें वायरल वीडियो


सोशल मीडिया पर कुछ वीडियो भी सामने आए हैं जिनमें गांव में घरों को जलाते हुए और पुलिस हमलावरों से भिड़ते हुए देखी जा सकती हैं। आगजनी के तुरंत बाद पुलिस और हमलावरों के बीच झड़प और भागदौड़ भी देखी जा सकती है।

आपको बता दें कि इस मामले में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना (Saikh Hasina) ने चेतावनी देते हुए कहा था कि जो कोई भी इस हमले में शामिल हैं, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा चाहे वो किसी भी धर्म के हों। शेख हसीना ने इसके साथ ही भारत को भी सतर्क रहने के लिए कहा है। शेख हसीना ने कहा कि भारत में भी ऐसा कुछ नहीं होना चाहिए जिसका असर बांग्लादेश पर हो और वहां के हिंदू समुदाय को नुकसान पहुंचे।