भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में विलय की खबरों के बीच मंगलवार को झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) ने अपने विधायक बंधु टिर्की को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। पार्टी के प्रधान महासचिव अभय सिंह ने मंगलवार को यहां इसकी घोषणा करते हुए कहा, बंधु पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्तता का आरोप है, जिस कारण उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है।

उन्होंने पार्टी के भाजपा में विलय को कयासबाजी बताते हुए कहा कि आने वाले दिनों में झाविमो और मजबूत होगी। उल्लेखनीय है कि बंधु टिर्की झारखंड विधानसभा चुनाव में झाविमो के टिकट पर मांडर से चुनाव जीते थे। टिर्की भाजपा में पार्टी के विलय के खिलाफ लगातार बयान दे रहे थे। गौरतलब है कि हाल में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में हटिया से पार्टी की प्रत्याशी शोभा यादव ने बंधु टिर्की पर दूसरी पार्टी के प्रत्याशी का प्रचार करने का आरोप लगाते हुए अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी से शिकायत की थी। 

मरांडी ने 17 जनवरी को टिर्की को कारण बताओ नोटिस जारी कर उनसे 48 घंटे के अंदर जवाब मांगा था, परंतु टिर्की अब तक अपना जवाब नहीं दे सके थे। बंधु टिर्की को अभी हाल ही में झाविमो की नई कार्यकारिणी में कोई अहम पद नहीं दिया गया था। सिर्फ उन्हें सदस्य के रूप में पार्टी में जगह मिली थी। उनके साथ प्रदीप यादव को भी सामान्य सदस्य के रूप में जगह दिया गया था। हाल में हुए विधानसभा चुनाव में झाविमो ने तीन सीटें जीती थी।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज :  https://twitter.com/dailynews360