सर्दियों (Winters) में केला खाना कुछ लोगों को भारी नुकसान पहुंचा सकता है। पोषक तत्वों से भरपूर केला आपको एनर्जी देता है, लेकिन कुछ समस्याओं में केले का सेवन नहीं करें। एक्सपर्ट्स का कहना है कि सांस से जुड़ी समस्याओं और सर्दी-खांसी में केले का सेवन आपको नुकसान (Banana Side Effects) पहुंचाएगा। केला बलगम या कफ के संपर्क में आने पर जलन पैदा करता है जिससे आपकी तकलीफ बढ़ सकती है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक है कि अगर आपको साइनस की समस्या है तो केले का सेवन सीमित मात्रा में करें। कुछ बीमारियां इस प्रकार हैं—

कब्ज
पका केला खाने से पेट साफ होता है, लेकिन अगर केला कच्चा है तो इससे आपको कब्ज हो सकती है। केला खाने से मोशन टाइट हो जाता है, इसलिए कच्चा नहीं पका हुआ केला ही लिमिट में खाएं।

मोटापा
ज्यादा केला खाने से वजन बढ़ सकता है। केले में फाइबर और नैचुरल शुगर होता है अगर आप इसे दूध के साथ खाते हैं तो वेट बढ़ता है।

पेट दर्द और एसिडिटी
खाली पेट केला खाने से पेट दर्द और गैस की समस्या भी हो सकती है। केले में स्टार्च होता है, तो इसे पचाने में समय लगता है। इससे पेट दर्द और उल्टी की शिकायत हो सकती है।

शुगर लेवल बढ़ाता है
जिन लोगों को डायबिटीज है, उनके लिए केला खाना नुकसानदेह हो सकता है। केले में नैचुरल शुगर की मात्रा होती है, जिससे शुगर लेवल बढ़ा सकता है। डायबिटीज के मरीज हैं तो केला बहुत कम मात्रा में खाएं।

खराब हो सकते हैं दांत
अगर आप ज्यादा मात्रा में केला खाते हैं तो दांतों में सड़न पैदा हो सकती है। केले में अमीनो एसिड टाइरोसिन होता है, जो बॉडी में टायरामाइन में बदल जाता है। ये माइग्रेन को ट्रिगर कर सकता है।

अस्थमा
अस्थमा के मरीजों को भी सीमित मात्रा में ही केले का सेवन करना चाहिए। केला खाने से एलर्जी और सूजन की समस्या भी हो सकती है।