बलिया गोलीकांड में मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह के भाई देवेंद्र प्रताप सिंह समेत 6 आरोपियों को बलिया पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह अभी भी फरार है, जिसे पकड़ने के लिए दर्जन भर पुलिस टीम छापेमारी कर रही है। अब दुर्जनपुर गांव मे सभी असलहों का लाइसेंस निरस्त किया जायेगा।

इस बीच आजमगढ़ जोन के आईजी सुभाष चंद्र दुबे, दुर्जनपुर गांव में कैंप कर रहे हैं। वही आरोपियों की तलाश में पुलिस की एक दर्जन से ज्यादा टीमें जगह-जगह पर दबिश दे रही हैं। उधर इस वारदात के बाद पुलिस ने आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह के घर पर जमकर तोड़फोड़ की है।

जानकारी के अनुसार, पुलिस ने  मुख्य आरोपी के घर की महिलाओं को थाने में बैठाया है। साथ ही पुलिस ने आरोपी के घर में काफी तोड़फोड़ भी की है। पुलिस के जवानों ने आरोपी के घर की खिड़कियां तोड़ डाली है।

गौरतलब है कि 15 अक्टूबर की दोपहर बाद बलिया जिले के रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव में कोटे की दुकान के आवंटन को लेकर की जा रही कार्यवाही में दो पक्षों में भिड़ंत हो गई. जिसमें गांव के ही दबंग धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ डब्ल्यू ने अपने साथियों के साथ मिलकर दूसरे पक्ष पर हमला बोल दिया और ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी