असम की अस्मिता को अजमल से खतरा है। बदरुद्दीन अजमल पर करारा हमला बोलते हुए ये बातें शहीद बाकोरी में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के तेजपुर लोकसभा प्रत्याशी पल्लव लोचन दास के समर्थन में आयोजित एक जनसभा में असम के स्वास्थ्य मंत्री एवं लोक निर्माण विभाग के मंत्री हिमंता विश्व सरमा ने कही।
सरमा ने अजमल पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कभी 'हू इज बदरुद्दीन' कहने वाले मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने बदरुद्दीन अजमल के सामने समर्पण कर दिया है, क्योंकि वे पुत्र मोह में बंधकर कलियाबोर से अपने पुत्र को सांसद के रूप में विजयी बनाने का सपना पाले हुए हैं। उन्होंने कांग्रेस एवं एआईयूडीएफ की आपसी सांठगांठ का आरोप लगाते हुए कहा कि मतदाताओं को राष्ट्र विरोधी ताकतों से सावधान रहना चाहिए।
सरमा ने पीएम मोदी के राष्ट्र प्रेम एवं देशभक्ति की भावनाओं से लोगों को प्रेणा लेने का आह्वान करते हुए कहा कि तेजपुर संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी पल्लव लोचन दास को भारी मतों से विजयी बनाकर एक बार फिर से मोदीजी को प्रधानमंत्री बनाने में अपना सक्रिय योगदान प्रदान करें। हिमंता विश्व सरमा ने मोदी सरकार के पांच सालों की उपलब्धियों पर विस्तृत रूप से प्रकाश डालते हुए कहा कि राष्ट्रीय एकता को सुदृढ़ बनाने के लिए आवश्यक है कि हम राष्ट्र की स्पष्ट कल्पना लेकर चलें।
इस सभा में भाजपा के तेजपुर संसदीय क्षेत्र के प्रत्याशी पल्लव लोचन दास तथा अगप के विधायक वृंदावन गोस्वामी ने भी अपने विचार व्यक्त किए। सभा में भाजपा एवं संघ के समर्पित उत्साही कार्यकर्ता तथा एमट्रोन के उपाध्यक्ष रितु वरण शर्मा, तेजपुर के पूर्व विधायक राजेने बरठाकुर और भी कई नेता शामिल थे।
इसी के साथ एआईयूडीएफ के दिलीप नाथ के साथ कांग्रेस एवं एआईयूडीएफ के करीब 600 सदस्यों ने भारतीय जनता पार्टी के आदर्शों से प्रभावित होकर भाजपा की सदस्यता हासिल कर ली है। बता दें कई नेताओं ने कांग्रेस का हाथ छोड़ भाजपा का दामन थाम लिया है। जिससे कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है।