इस दुनिया में एक से बढ़कर एक भविष्यवक्ता हुए हैं जिनको उनकी भविष्यवाणियों के कारण दुनियाभर में जाना गया। दुनिया के सबसे फेमस भविष्यवक्ताओं की बात की जाए तो सबसे पहले हर किसी की जुबान पर एक ही नाम आता है, वो है बाबा वेंगा। बाबा वेंगा ही वो भविष्यवक्ता हैं जिन्होंने आज से 100 साल पहले ही यह कह दिया था कि रूस दुनिया पर राज करेगा।

आपको बता दें कि Baba vanga ने काफी सारी भविष्यवाणियां की हैं, जिनमें से काफी सारी सच साबित हुई हैं। कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक बाबा वेंगा ने रूस को लेकर जो भविष्यवाणी की थी, वो सच होती दिख रही है।

यह भी पढ़ें- सिक्किम में बिना तेल के बनाया जाता है लजीज फग्शापा मीट, पूरी दुनिया में मशहूर है ये होटल

बाबा वेंगा ने भविष्वाणी की थी, रूस 'दुनिया का स्वामी' बन जाएगा, यूरोप बंजर हो जाएगा और फिर कोई रूस को नहीं रोक पाएगा। सब कुछ बर्फ की तरह पिघल जाएगा और बस जो रह जाएगा, वो होगी व्लादिमीर पुतिन और रूस की शान। कोई  भी रूस के आगे नहीं आएगा और वह दुनिया पर राज करेगा।

बताया जाता है कि बाबा वेंगा मरने से पहले सन्  5079 तक की भविष्यवाणियां करके गई थीं। कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक उनकी भविष्यवाणियां 85 प्रतिशत तक सच हुई हैं। अपनी भविष्यवाणियों के लिए फेमस बाबा वेंगा के बारे में बताया जाता है कि उनका जन्म 1911 में हुई था और मात्र 12 साल की उम्र में ही उनकी आंखों की रोशनी चली गई थी। बुल्गारिया की रहने वाली बाबा वेंगा फकीर थीं।

उनके लिए कहा जाता है कि उनकी काफी सारी भविष्यवाणियां सच साबित हुईं, तो काफी सारी गलत भी साबित हुईं। उनकी मौत 1996 में हो चुकी है। वे ये सारी भविष्यवाणियों कहीं लिखकर नहीं गई थीं, बल्कि अपने अनुयायियों को बताकर गई थीं।

यह भी पढ़ें- शाकाहारी और मांसाहारी दोनों की खास पसंद है गुंडरूक, स्वाद ऐसा है कि चखते ही दीवाने हो जाते हैं लोग

बाबा वेंगा ने 2004 में सुनामी आने की भविष्यवाणी की थी, जो कि सच साबित हुई। इसके बाद उन्होंने 2021 के लिए भविष्यवाणी की थी कि टिड्डियों का दल दुनिया भर में खेतों पर हमला करेगा और आपको याद होगा भारत में टिड्डियों के हमले से 2021 में काफी फसलें बर्बाद हुई थीं।

ये भी कहा था कि यूएसए (USA) के 44 वें प्रेसिडेंट अश्वेत होंगे, लेकिन वे वहां के आखिरी प्रेसिडेंट होंगे। हालांकि 44 वें प्रेसिडेंट अश्वेत थे। लेकिन वे आखिरी प्रेसिडेंट नहीं थे। उनकी ये भविष्यवाणी 50 प्रतिशत सही निकली थी।