डेलीन्यूजकी ट्रेवल सीरीज में आज आपको सेना के एक ऐसे जवान के मंदिर के बारे में बता रहे हैं, जो मौत के 48 साल बीत जाने के बाद आज भी सरहद की रक्षा कर रहा है।  जी हां, सुनने में बात जरूर हैरत में डालने वाली है, लेकिन यह सच है। चौंकाने वाली बात तो यह है कि इस मृत सैनिक की याद में एक मंदिर भी बनाया गया है, जो लोगों के लिए आस्था का केंद्र बन गया है। यहां बात हो रही है सिक्किम की राजधानी गंगटोक में नाथुला दर्रे के बीच बने बाबा हरभजन सिंह मंदिर की। लगभग 13 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित इस मंदिर में बाबा हरभजन सिंह की एक फोटो और उनका सामान रखा हुआ है।