जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में भारी हिमस्खलन की चपेट में आने से सेना के एक गश्ती दल के तीन जवान शहीद हो गए। सेना ने शनिवार को यह जानकारी दी। मृतकों की पहचान राजस्थान में नागौर जिले के सजवंतगढ़ गांव के लांस नायक मुकेश कुमार (22), महाराष्ट्र में धुले के चुंचक्केडे के नाइक गायकवाड़ लक्ष्मा राव (41) और गनर सौविक हाजरा (22) पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा के खमारबेरिया के रूप में हुई है।

इस बैंक में अभी करा लीजिए FD, बस एक साल में हो जाएंगे मालामाल, जानिए कैसे


सेना ने कहा कि माछिल सेक्टर में 17-18 नवंबर की रात को नियमित गश्त की गई। गनर हाजरा ने सांस लेने में तकलीफ की शिकायत की। सेना ने एक बयान में कहा कि प्रारंभिक जांच के बाद उसे निकटतम चौकी पर ले जाने की योजना बनाई गई थी। चौकी की ओर बढ़ते समय गश्ती दल भारी हिमस्खलन की चपेट में आ गया। तुरंत तलाश और बचाव अभियान शुरु किया गया। बयान के अनुसार हाइपरथर्मिया से पीड़ित गनर हाजरा की स्थिति बिगड़ने लगी। उसे हवाई जहाज से कुपवाड़ा के 168 सैन्य अस्पताल ले जाया गया। जहां उसकी मृत्यु हो गई। 

तो क्या नेता जी से ज्यादा बड़ी होगी डिंपल यादव की जीत, चाचा शिवपाल ने बनाया ऐसा बड़ा प्लान


घटनास्थल पर तलाशी दल ने लांस नायक मुकेश का पता लगाया और उसे दोपहर करीब ढ़ाई बजे हेलीकाप्टर से कुपवाड़ा ले जाया गया जहां उसने भी दम तोड़ दिया। इसके बाद व्यापक तलाश अभियान के पश्चात नायक गायकवाड़ का पता शाम लगभग साढ़े चार बजे चला और उसे कुपवाड़ा के अस्पताल ले जाया गया। नायक गायकवाड़ 2002 में सेना में शामिल हुए थे और उनके परिवार में पत्नी हैं। लांस नायक मुकेश कुमार 2018 में सेना में शामिल हुए थे और उनके परिवार में उनकी मां हैं। गनर हाजरा 2019 में सेना में शामिल हुए थे। उनके चाचा हैं। सेना ने बयान में कहा कि तीनों शहीदों के पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए उनके पैतृक स्थानों पर ले जाया जाएगा, जहां पूरे सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।