कई कंपनियों ने उपभोक्ता वस्तुओं, इलेक्ट्रोनिक सामानों, स्मार्ट फोन आदि के दाम फिर से बढ़ा दिए हैं। इस साल करीब 3 बार इन वस्तुओं के दाम में इजाफा हुआ है। पिछले सप्ताह मारुति सुजुकी, हीरो मोटर कार्प, इलेक्ट्रोनिक उत्पाद कंपनियों, सोनी, एलजी और गोदरेज ने अपने-अपने उत्पाद के दाम बढ़ाए थे। इसके अलावा शियोमी, रियलमी और विवो ने अपने-अपने स्मार्टफोन के दाम बढ़ाने की घोषणा की। उपभोक्ता वस्तुओं की बढ़ी हुई कीमत के कारण कंपनियों को डर है कि इससे मांग में कमी न हो जाए।

खबर है कि बाजार में कच्चे माल की कीमत में बहुत ज्यादा इजाफा हो गया है, जिसके कारण उपभोक्ता वस्तुओं की कीमत में वृद्धि हो रही है। रिपोर्ट में कहा गया है कि स्टील, अल्युमिनियम, रबर, कॉपर, प्लास्टिक, रेयर मैटेरियल और अन्य कच्ची सामाग्रियों की कीमत में वृद्धि हुई है। बड़ी एफएमसीजी कंपनियों का कहना है कि अगर वस्तुओ की लागत, पैकेजिंग और लॉजिस्टिक पर खर्च ज्यादा करना पड़ता है तो इसका सीधा असर रोजाना की आवश्यक वस्तुओं की बिक्री पर पड़ेगा। कोविड की दूसरी लहर के कई महीनों बाद बाजार जून में थोड़ा संभला था लेकिन अगर वस्तुओं की लागत में बढ़ोतरी होती है और इनकी कीमत आगे भी बढ़ जाएगी जिसका सीधा असर मांग पर होगा। इससे बिक्री घट जाएगी जिससे कंपनियों को घाटा उठाना पड़ सकता है।

पिछले छह महीनों में कई कंपनियों ने अपने उत्पाद के दाम 3 से 5 प्रतिशत तक बढ़ाए हैं। भारत के सबसे बड़े कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी का कहना है कि आवश्यक कच्चे माल की कीमत में वृद्धि के कारण कार की कीमत में वृद्धि करना आवश्यक हो गया था। अन्य कंपनियों ने भी लगभग इसी तरह की बात कही है।

कच्चे माल की कीमत में बढ़ोतरी के कारण आम लोगों को एक जुलाई से होम अप्लायंसेज की खरीदारी मंहगी पड़ेगी। क्योंकि AC, TV, फ्रीज समेत अन्य प्रोडक्ट्स को बनाने वाली कंपनियों ने अपने उत्पादों के दाम बढ़ाने की घोषणा की है। इनकी कीमतें करीब 3-4 प्रतिशत बढ़ने की आशंका है। होम अप्लायंसेज की बिक्री अप्रैल-मई 2021 के दौरान पिछले साल की समान अवधि से 20 प्रतिशत कम हुई है। एक रिपोर्ट के अनुसार होम अप्लायंसेज सेक्टर की प्रमुख कंपनी बजाज इलेक्ट्रॉनिक जुलाई से अगस्त के दौरान अपने सभी प्रोडक्ट्स के दाम कम से कम 3 प्रतिशत बढ़ाने की तैयारी में है। इसी तरह गोदरेज अप्लायंसेज भी दूसरी तिमाही में प्रोडक्ट्स के प्राइसेज दो बार में 7-8 प्रतिशत तक बढ़ा सकती है। विशेषज्ञों का कहना है कि कॉपर, स्टील समेत अन्य मेटल्स की कीमतें बढ़ने से होम अप्लायंसेज के दाम बढ़े हैं।
 
AC बनाने वाली कंपनी ब्लू स्टार भी अपने उत्पाद की कीमत 1 सितंबर से 5-8 प्रतिशत तक बढ़ाने की तैयारी में है। कंपनी का कहना है कि को उत्पाद बनाने में पिछले साल से करीब 25 प्रतिशत ज्यादा लागत खर्च करनी पड़ रही है। LED पैनल और सेमी कंडक्टर की कमी की वजह से TV के दाम भी बढ़ सकते हैं। उम्मीद की जा रही है कि सोनी अपने टेलिविजन के दाम 12-15 प्रतिशत बढ़ा सकती है।