ऑस्ट्रेलियाई सरकार (Australian govt.) कहा कि  "भारत बायोटेक, भारत द्वारा निर्मित कोवैक्सिन (Covaxin) और सिनोफार्म, चीन द्वारा निर्मित BBIBP-CorV टीकों को यात्री के टीकाकरण की स्थिति स्थापित करने के उद्देश्य से 'मान्यता प्राप्त' होगी।" यह मान्यता 12 वर्ष और उससे अधिक आयु के यात्रियों के लिए है, जिन्हें कोवैक्सिन का टीका लगाया गया है।

इन्होंने बताया कि " 18 से 60 आयु लोगों को जिन्हें BBIBP-CorV का टीका लगाया गया है। इस मान्यता का मतलब है कि चीन (China) और भारत (India) के साथ-साथ हमारे क्षेत्र के अन्य देशों के कई नागरिक जहां इन टीकों को व्यापक रूप से तैनात किया गया है, अब ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश पर पूरी तरह से टीका लगाया जाएगा।"

चिकित्सीय सामान के लिए ऑस्ट्रेलिया के नियामक प्राधिकरण, चिकित्सीय सामान प्रशासन (TGA) ने कहा कि उसने यह प्रदर्शित करते हुए अतिरिक्त जानकारी प्राप्त की है कि ये टीके सुरक्षा प्रदान करते हैं और संभावित रूप से इस संभावना को कम करते हैं कि एक आने वाला यात्री ऑस्ट्रेलिया में रहते हुए दूसरों को कोविड-19 (COVID-19) संक्रमण प्रसारित करेगा या तीव्र रूप से अस्वस्थ हो जाएगा।