कोरोना काल में कलयुग की चरम सीमा देखी जा रही है। कलयुग की खौफनाक तस्वीरें नदियों में देखने को मिल रहा है। यूपी और बिहार के बक्सर और गाजीपुर में गंगा नदी में लाशों के सैलाब देखा गया है। जहां पानी कई दिनों से पड़े शव फुल फुल कर फट गए हैं। पहचान करना मुश्किल हो गया है। यूपी और बिहार के बाद अब मध्य प्रदेश में यह भयावह मंजर देखने को मिल रहा है।  

प्रदेश की रुंज नदी में कुछ लाशें बहती दिखाई दी है। जिससे प्रशासन में हड़कंप मच गया है। लाशें कुछ पानी के ऊपर है तो कुछ पानी के अंदर हैं। पुलिस प्रशासन ने लापरवाही दिखाई है जिससे सिर्फ दो ही शव होने की पुष्टि की है। पुलिस ने बताया है कि ये लाशें कोविड पेशेंट्स की नहीं हैं बल्कि सामान्य मौत हुई है। यहां ज्यादा लाशें नहीं हैं अफवाहें उड़ाई जा रही है। पन्ना जिले से बहने वाली केन की सहायक नदी रुंज में लाशें बह रही है।


पन्ना नदी के पास रहने वाले लोगों का कहना है कि नदीं की कई लाशें  हैं लेकिन पुलिस ध्यान नहीं दे रही है। कई दिनों यहां एक दो लाशें देखने को मिलती है। डर है कि यह यह लाशें कोरोना पेशेंट्स की तो नहीं है। ग्रामीण ने बताया कि 6 से अधिक लाशें उसने बहती हुई देखी हैं। 3 से 4 दिन हो गए हैं लेकिन इन लाशों की सुध लेने कोई नहीं आया है।