ब्रह्मांड की उत्पत्ति और हमारे अपने ग्रह को समझने के लिए क्षुद्रग्रह (एस्टरॉयड) काफी महत्वपूर्ण होते हैं। अब अंतरिक्ष विज्ञानियों ने हाल ही में हमारे सौरमंडल के सबसे तेज क्षुद्रग्रह की खोज की है। यह नया एस्टरॉयड अन्य सभी क्षुद्रग्रहों की तुलना में सबसे जल्दी सूर्य का एक चक्कर पूरा कर लेता है।

खोजकर्ताओं के अनुसार सोलर रॉक, जिसे 2021 पीएच27 के रूप में जाना जाता है, हर 113 पृथ्वी दिवस में सूर्य के चारों ओर एक चक्कर पूरा करता है। कुछ अंतरिक्ष विज्ञानी इसे क्षुद्रग्रहों का उसैन बोल्ट नाम दे रहे हैं। खोजकर्ताओं का अनुमान है कि 2021 पीएच27 लगभग 0.6 मील (1 किमी) चौड़ा है। बता दें, बुध ग्रह 88 पृथ्वी दिवस में सूर्य की एक परिक्रमा कर लेता है। इस एस्टरॉयड की आगे की खोज इसके रहस्य को सुलझाने में मदद कर सकती है। 

हालांकि, खगोलविदों को अधिक डेटा एकत्र करने के लिए कुछ महीने इंतजार करना होगा। खोज दल के सदस्यों ने कहा कि 2021 पीएच27 अब हमारे दृष्टिकोण से सूर्य के पीछे जा रहा है, और यह 2022 की शुरुआत तक फिर से नहीं उभरेगा। पीएच27 को पहली बार 13 अगस्त को चिली में सेरो टोलोलो इंटर-अमरीकन ऑब्जर्वेटरी में डार्क एनर्जी कैमरा का उपयोग करके वैज्ञानिकों ने देखा था।

2021 पीएच27 बुध की तुलना में बहुत अधिक अण्डाकार पथ पर यात्रा करता हुआ सूर्य के काफी करीब पहुंच जाता है। यह एस्टरॉयड सूर्य की परिक्रमा के दौरान एक समय उसके इतना पास पहुंच जाता है कि एक समय सूर्य से उसकी दूरी सिर्फ 12.4 मिलियन मील (20 मिलियन किलोमीटर) रह जाती है। यह बुध के उसके पथ पर सूर्य के सबसे करीब से भी कम है। अनुमान है कि 2021 पीएच27 जब सूर्य के सबसे करीब होता है तब उसकी सतह का तापमान लगभग 900 डिग्री फॉरेनहाइट (500 डिग्री सेल्सियस) तक पहुंच जाता है। शोधकर्ताओं के अनुसार इस अंतरिक्ष चट्टान की उत्पत्ति मंगल व बृहस्पति के बीच मुख्य क्षुद्रग्रह बेल्ट में हुई होगी, फिर एक या अधिक ग्रहों के साथ गुरुत्वाकर्षण से यह बना।