भारतीय चुनाव आयोग (ECI) पांच राज्यों में होने वाले चुनाव के मद्देनजर शनिवार को अहम बैठक करेगा। इस बैठक में आयोग रैलियों, जुलूसों आदि पर प्रतिबंध को लेकर फैसला लेगा। दरअसल, आयोग ने पांच राज्यों चुनाव की घोषणा के समय ही रोड शो, रैली, जनसभा आदि पर कोरोना संक्रमण की वजह से 22 जनवरी तक रोक लगा दी थी। जिसकी समयसीमा आज खत्म हो रही है। चुनाव आयोग आज दोपहर साढ़े बारह बजे होने वाली बैठक में चुनावी रैलियों, जुलूसों और रोड शो पर लगी पाबंदियों को बढ़ाने या खत्म करने पर फैसला लेगा। बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव और चुनाव वाले राज्यों के स्वास्थ्य सचिव भी शामिल होंगे।

बता दें कि चुनाव आयोग ने 8 जनवरी को जब पांच राज्य उत्तर प्रदेश, गोवा, मणिपुर, उत्तरांखड और पंजाब में विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा की थी। कोरोना का हवाला देते हुए आयोग ने तारीखों के ऐलान के साथ ही रैलियों और जनसभाओं पर 15 जनवरी तक के लिए पाबंदी लगा दी थी। इस पाबंदी को 15 जनवरी को एक हफ्ते 22 जनवरी तक के लिए और बढ़ा दिया गया। अब 22 जनवरी को चुनाव आयोग एक बार फिर बैठक कर चुनावी रैलियों पर प्रतिबंध को लेकर फैसला लेगा। गौर हो कि ये चुनाव कोरोना वायरस संक्रमण के बीच हो रहा है। ऐसे में आयोग ने कई एतियाती कदम मतदान के लिए उठाए हैं।

बता दें कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा में विधानसभा चुनावों की तारीखों की घोषणा हो चुकी है। इस बार 10 फरवरी से 7 मार्च के बीच मतदान होना है। गोवा, पंजाब और उत्तराखंड में एक ही चरण में चुनाव होने हैं। मणिपुर में दो चरण में वोटिंग होगी। वहीं उत्तर प्रदेश में सात चरण में विधानसभा चुनावों के लिए वोटिंग होगी। जबकि एक साथ पांचों राज्यों में वोटों गिनती 10 मार्च को होगी और नतीजों का ऐलान किया जाएगा।