नॉर्थ ईस्ट की युवती की हत्या में पुलिस ने उसके पति को गिरफ्तार किया। पूछताछ में उसने बताया कि उसे पत्नी के चरित्र पर शक था। इस पर दोनों में बहस हुई, बात बढ़ने पर उसने पत्थर से हमला कर उसकी जान ले ली। इसके बाद उसने अपने भाई को फोन कर कहा कि पत्नी की हत्या कर वह भाग रहा है। भाई से मामला पुलिस तक पहुंचा। इसके बाद आरोपित को आया नगर बॉर्डर से पकड़ लिया गया।

मूलरूप से असम की रहने वाली युवती काजल गाजियाबाद में मेड का काम करती थी। वहीं पर एक होटल में यूपी संभल के गांव अकरौली निवासी धर्मेंद्र नौकरी करता था। दोनों की मुलाकात हुई। करीब 6 महीने पहले दोनों ने शादी कर ली और गांव चले गए। पिछले सप्ताह गांव से वापस गुड़गांव आए और दो दिन तक नाथूपुर पहाड़ी में रहने वाले धर्मेंद्र के भाई के कमरे पर रुके। दो दिन चकरपुर में धर्मेंद्र के मामा के लड़के यहां ठहरे। शनिवार सुबह धर्मेंद्र ने अपने भाई को कॉल कर कहा कि वह पत्नी के साथ आ रहा है। काम की जरूरत है। शाम को फोन आया कि मैंने पत्नी की हत्या कर दी है और भाग रहा हूं। इससे घबराए धर्मेंद्र के भाई ने पड़ोस में दुकान करने वाले नाथूपुर निवासी विक्रम से जानकारी शेयर की। विक्रम ने पुलिस को शिकायत दी। इसके बाद शव मिला और मामला खुला। रविवार दोपहर पुलिस ने पहाड़ी से लहूलुहान हालत में शव बरामद किया। सिर पर पत्थर से कई वार किए गए थे। पास में ही पुलिस को खून से सना पत्थर भी पड़ा मिला।

इस बीच गुप्त सूचना के आधार पुलिस ने आरोपित को आया नगर सीमा से गिरफ्तार किया। पूछताछ में उसने बताया कि उसे काजल के चरित्र पर शक था। शनिवार को दोनों नाथूपुर गांव के पीछे पहाड़ी पर बने मंदिर में बैठे थे। इसी दौरान बहस होने पर उसने सिर पर पत्थरों से वार कर पत्नी की हत्या कर दी।डीएलएफ फेज-3 थाना प्रभारी रामकुमार ने बताया कि एफआईआर दर्ज कर शव बरामद कर लिया गया था। आरोपित को अरेस्ट कर लिया गया। शुरुआती पूछताछ में चरित्र पर शक के चलते हत्या की बात सामने आई है।