गैर कानूनी तौर पर रोहिंग्या मुसलमानों की घुसपैठ भारत के लिए चिंता बनती जा रही है, अब तो हरियाणा में भी इनकी संख्या हजारों में पहुंच गई। ये लोग सीमा पार से असम के जरिए भारत में घुसे हैं और खुद को असम का नागरिक बता रहे हैं इसके साथ ही अब इनकी तादाद रोहतक में भी बढ़ती जा रही है इन्होने यहां पर आधार कार्ड तक बनवा लिए।


इनका दावा है कि ये असम के रहने वाले हैं और बेवजह इन्हें रोहिंग्या बताकर परेशान किया जा रहा है. साल में कई बार उनके कागजात भी चेक किए जाते हैं। कुछ भी गलत नहीं है, लेकिन हर वक़्त डर लगा रहता है। रोहतक शहर से बाहर एक झुग्गी-बस्ती, इसमें तक़रीबन 30 परिवार रहते हैं। शहर में इस तरह की दर्जनों झुगियां हैं। इन झुग्गियों में रहने वाले कचरा बीनने का काम करते हैं और पूरा परिवार इसी काम में लगा रहता है।


इन लोगों को रोहिंग्या बताया जा रहा है, लेकिन ये दावा करते हैं कि ये रोहिंग्या नहीं हैं, असम के रहने वाले हैं और वहां के सारे कागजात उनके पास हैं। लेकिन इनको हर वक़्त डर लगा रहता है कि कहीं इन्हे शहर से बाहर न निकाल द इनका कहना है कि ये अपने परिवार का गुजारा करने के लिए यहां रहते हैं, लेकिन रोहिंग्या बताकर उन्हें परेशान किया जा रहा है। पहले सिर्फ 15 अगस्त और 26 जनवरी को ही चेकिंग की जाती थी, लेकिन अब तो बहुत ज्यादा जांच की जा रही है जिससे कभी भी इन्हे देश के बहार निकला जा सकता है