राज्य में अगले साल के शुरुआत यानी जनवरी में पंचायत चुनाव कराए जाएंगे। चुनाव प्रक्रिया 15 फरवरी के भीतर संपन्न कराए जाएंगे। असम राज्य चुनाव आयोग (एएसईसी) ने इसके लिए प्रारंभिक तैयारी शुरु कर दी है। आयोग के सूत्र के मुताबिक तीन चरण में चुनाव करवाए जाएंगे।

एएसईसी ने मतदाताओं की सूची जारी कर दी है। इस बार मतदाताओं की संख्या में 15 फीसदी की वृद्धि हुई है। एएसईसी ने बताया कि राज्य चुनाव आयोग ने मंगलवार को ही मतदाता सूची जारी की है। इसके अनुसार कुल मतदाताओं की संख्या 1.41 करोड है। सूचना अनुसार आयोग ने ये चुनाव तीन चरणों में कराने का फैसला किया है। पिछली बार ग्वालपाड़ा जिले में पंचायत चुनाव देरी से होने की वजह से वहां इस बार चुनाव नहीं कराए जाएंगे।

इसके अलावा बरपेटा को छोड़ राज्य के सभी जिलों में मतदाता सूचनी प्रकाशित हुई है। बरपेटा जिले की मतदाता सूची अगले महीने की पांच तारीख के भीतर जारी कर दी जाएगी। राज्य चुनाव आयोग के आयुक्त के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार इस बार पंचायत चुनाव के उम्मीदवार के खर्च की सीमा भी बढ़ा दी गई है।

इस वृद्धि के अनुसार जिला परिषद सदस्य पद के उम्मीदवार अधिकतम छह लाख चालीस हजार, आंचलिक पंचायत सदस्य और ग्राम पंचायत अध्यक्ष पद के उम्मीदवार अधिकतम एक लाख साठ हजार और ग्राम पंचायत सदस्य पद के उम्मीदवार अधिकतम सोलह हजार रुपए खर्च कर सकेंगे।