असम NRC अधिकारी प्रतीक हाजेला के खिलाफ FIR दर्ज कराई गई है। उनके खिलाफ ये एफआईआर आल असम गोरिया मोरिया यूथ स्टूडेंट्स फेडरेशन की ओर से दर्ज कराई गई है। उनके खिलाफ असम के गीतानगर पुलिस थाने में दर्ज कराए गए केस No 1469 के धार 19, 120B, 166 और 167 के तहत यह एफआईआर दर्ज कराई गई है।

हाजले का खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के पीछे का कारण यहां के कई मूल निवासियों का असम एनआरसी की फाइनल लिस्ट में नाम नहीं आना बताया गया है। इस संगठन ने उन पर आरोप लगाया है कि लोगों द्वारा सही दस्तावेज जमा कराए जाने के बावजूद उनके नाम एनआरसी से बाहर कर दिए गए।

इस संगठन के नेताओं ने हाजेला की निंदा करते हुए कहा है कि उन्होंने राज्य के मूल निवासियों में शामिल रक्षा अधिकारी जैसे लोगों के नाम सूची से बाहर कर दिए। जबकि इन लोगों ने अपनी जान दांव पर लगाकर देश की रक्षा की है। उनका कहना है कि इन सबके लिए हाजेला ही जिम्मेदार हैं। इसके साथ ही नेताओं ने इसकी जांच की भी मांग की है।

इसके अलावा हाजेला के खिलाफ असम पब्लिक वर्क्स (APW) ने भी गीतानगर पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। इस संगठन ने यह आरोप लगाया है कि उन्होंने एनआरसी की फाइनल सूची में गोरिगांव के मिकिभेटा में रहने वाले बांग्लादेशी मूल के लोगों के नाम जोड़ दिए हैं।