असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने दीमा हसाओ जिले में नीपको की कोपिली पनबिजली परियोजना में पानी की पाइपलाइन टूटने की जांच कराने का आदेश दिया है। आधिकारिक सूत्रों ने शुक्रवार को इस बारे में बताया। एक विज्ञप्ति में बताया गया कि उम्ंगसू में पूर्वोत्तर विद्युत उर्जा निगम (नीपको) परियोजना में हुई घटना के कारण बिजली संयंत्र की संपत्तियों को नुकसान के मद्देनजर मुख्यमंत्री ने दक्षिण असम संभाग के डीआईजी पी के दत्त को जांच का जिम्मा सौंपा है।

मुख्यमंत्री ने पहाड़ी क्षेत्र विकास, खनन और खनिज मामलों के प्रभारी मंत्री सुम रोंघांघ को स्थिति का जायजा लेने के लिए उच्च स्तरीय दल के साथ हादसा स्थल पर भी जाने को कहा है। सोनोवाल ने सरकार संचालित नीपको के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर घटना के बारे में उनसे जानकारी ली।

दीमा हसाओ के उपायुक्त अमिताभ राजखोवा के मुताबिक जल स्तर नहीं घटने के कारण पनबिजली संयंत्र में पाइपलाइन के फटने के पांच दिन बाद भी नीपको के तीन अधिकारी और एक श्रमिक का अब तक पता नहीं चल पाया है। नीपको अधिकारियों का कहना है कि दो तीन दिनों में पानी घटने लगेगा। इसके बाद लापता लोगों की तलाश शुरू की जाएगी।