असम में एनआरसी का काम प्रगति पर है, हालांकि अब भी ग्रामीण इलाकों में एनआरसी को लेकर लोगो में बहुत सी अफवाहे फैलाई जा रही है। जिस वजह से लोगों में डर का माहौल है लोग किसी भी तरह का नोटिस मिलने पर घबरा जाते हैं और कई लोग तो आत्महत्या तक कर बैठते हैं।

एनआरसी में फॅमिली ट्री के सत्यापन का सिलसिला शुरू होने के बाद राज्य में बड़ी तादाद में लोगों को नोटिस दिए जा रहे हैं, ऐसा ही एक नोटिस मिलने के बाद से एक व्यक्ति की सदमे में मौत हो गई है, घटना असम के कामरूप जिले के नगरबेड़ा की है जहां एक वृद्ध किताब अली को उनके पतिवार के 15 सदस्यों को वंशवृक्ष के सत्यापन के लिए नोटिस दिया गया था।


जानकारी के अनुसार, इस वृद्ध व्यक्ति का नाम 1951, 1966 आदि की मतदाता सूची में भी है। नोटिस मिलने के बाद इस व्यक्ति ने आस- पास के लोगों को अपने दस्तावेज भी दिखाए, लेकिन अचानक बीती रात 12 बजे इस व्यक्ति की मौत हो गई, आज मामले की सुनवाई होनी थी। जिसमें परिवार के लोग घर में मौत के बावजूद भी एनआरसी केंद्र में सुनवाई के लिए पहुंचे।


इस घटना को लेकर इलाके में शोक का माहौल है, तो वहीं परिवार के लोग सदमें में हैं, असम में एनआरसी प्रक्रिया को लेकर जागरूकता की कमी है जिससे स्थानीय लोगों में इसको लेकर खौफ का माहौल है। इसके साथ ही इलाके के लोगों ने एमआरसी को लेकर आम जन में जागरूकता फैलाने की मांग की है।