असम के दरंग जिले के एक प्राथमिक स्कूल में मध्याह्न भोजन के दौरान गोमांस बनाने के लिए पुलिस ने स्कूल के प्रधान शिक्षक को गिरफ्तार किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के अल्पसंख्यक बहुल दलगांव इलाके के दक्षिण दुलियापार प्राथमिक स्कूल के प्रधान शिक्षक नसीरुद्दीन अहमद को स्कूल के रसोई घर में गोमांस पकाने के लिए गिरफ्तार किया।

जिला प्राथमिक शिक्षा अधिकारी(डीईईओ) द्वारा दर्ज की गई प्राथमिकी के आधार पर अहमद को गिरफ्तार किया गया। अहमद पर विभिन्न धर्मों के लोगों के बीच नफरत फैलाने का आरोप है। डीईईओ जे तबस्सुम ने कहा कि अहमद को स्कूल नियमों के खिलाफ कार्य करने तथा सामाजिक ताने-बाने को नष्ट करने के चलते तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

उन्होंने बताया कि प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई है कि स्कूल प्रबंधन कमेटी की बैठक के दौरान स्कूल में गोमांस पकाया गया था। यह सीधे-सीधे स्कूल नियमों का उल्लंघन है। इस तरह की पार्टी के लिए पहले से कोई अनुमति नहीं ली गई थी। इसके चलते विद्यार्थियों को अपने मध्याह्न भोजन से वंचित होना पड़ा था। इस कारण हमारे पास अहमद को निलंबित करने के सिवाय कोई चारा नहीं था। इससे सांप्रदायिक माहौल बिगड़ने की आशंका के चलते शिक्षा विभाग की ओर से पुलिस को इसकी सूचना दी गई थी।

आधिकारिक निलंबन में डीईईओ ने कहा कि सामुदायिक शिकायत मिलने के बाद प्रारंभिक जांच में पाया गया कि अहमद ने स्कूल में आपत्तिजनक खाद्य बनाने का कार्य किया और इससे बच्चों को मध्याह्न भोजन से वंचित होना पड़ा। प्रधानध्यापक पर गोमांस बनाने में बच्चों का इस्तेमाल किए जाने का भी आरोप है। उधर निलंबित प्रधान शिक्षक ने कहा कि स्कूल प्रबंधन कमेटी के कहने पर उसने गोमांस स्कूल में बनाया था।