वित्त मंत्री डाॅ. हिमंत विश्व शर्मा ने  कहा कि किसानों का विकास ही सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है तथा इसके मद्देनजर सरकार ने राज्य के 2,62,000 किसानों के कर्ज माफ करने के तीन महती योजनाएं लाई है। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं के अंतर्गत किसानों द्वारा लिए गए लोन में से 2 लाख रूपए तक के ब्याज किसानों को नहीं देना पडे़गा।

जनता भवन स्थित अपने कार्यालय सभागार में वित्त मंत्री डाॅ. शर्मा ने कहा कि हाल ही में आयोजित कैबिनेट की बैठक ने किसानों के लिए तीन योजनाओं को हरी झंड़ी दिखाई थी।इन योजनाओं का नाम इस प्रकार हैं- आसाम फार्मर्स क्रेडिट सब्सिडी स्कीम( एएफसीएसएस), 2108, अासाम फार्मर्स इंटरेस्ट रिलीफ स्कीम(एएफआईआरएस), 2108 और आसाम फार्मर्स इंसेंटिव्स स्कीम 2108। उन्होंने बताया कि इन योजनाओं को लागू कराने का उद्देश्य अधिक से अधिक किसानों कों बैंक से जोड़े रखना है ताकि उनकों सरकारी योजनाओं का राशि सीधे उनके  अकाउंट में जमा हो।



इसके अलावा उन किसानों के लिए भी इन योजनाओं को लाया गया है जो बैंक से लोन नहीं लेते हैं तथा विभिन्न कारणों से वित्तीय स्थिति की कमजोरी झेल रहे हैं। मंत्री ने इन तीनों योजनाओं के तहत किसानों को सरकार की ओर से दी जाने वाली छूट तथा अन्य सुविधाओं के बारे में पत्रकारों के समक्ष विस्तार से वर्णन किया।