असम सरकार ने शुक्रवार को कहा कि उसके पास राज्य में रहने वाले बुजुर्ग लोगों, विधवाओं और दिव्यांगों से जुड़ा आंकड़ा नहीं है। एआईयूडीएफ विधायक अमिनुल इस्लाम के एक सवाल के लिखित जवाब में समाज कल्याण मंत्री प्रमिला रानी ब्रह्मा ने कहा कि उनके विभाग ने समाज की इन तीनों श्रेणियों के लोगों का डाटा या सूची तैयार नहीं करायी है।   

ब्रह्मा ने कहा, ‘‘समाज के उपेक्षित वर्ग के सर्वांगीण विकास के लिए डाटाबैंक बनाने की जरूरत है। समाज कल्याण विभाग ऐसा डाटाबैंक बनाने के लिए कदम उठा रहा है।’’  उन्होंने सदन को सूचित किया कि उनके विभाग ने 1,38,493 दिव्यांगों और 6,84,772 वृद्ध लोगों का डाटा जमा किया है। मंत्री ने कहा कि निशक्त लोगों के लिए सरकार विभिन्न आर्थिक योजनाएं चला रही है। राज्य के सहयोग से विभिन्न स्थानों पर वृद्धाश्रम भी बनाये जा रहे हैं ।