भारत की फिल्म इंडस्ट्री में साहित्य चोरी एलियन कॉन्सेप्ट नहीं है,खासतौर पर बॉलीवुड म्यूजिक में। ताजा मामला शॉर्ट फिल्म जिया जाये से जुड़ा है। मशहूर यूफोरियन बैंड के सिंगर और म्यूजिशियन पलाश सेन पर साहित्य चोरी का आरोप लगा है। मूल रूप से असम के रहने वाले मुंबई बेस्ड प्रोड्यूसर भार्गव सैकिया ने पलाश सेन पर साहित्य चोरी का गंभीर आरोप लगाया है। भार्गव सैकिया पिछले साल काफिरों की नमाज मूवी के चलते सुर्खियों में आए थे। पलाश सेन ने हाल ही में शॉर्ट फिल्म जिया जाये का निर्देशन किया था। भार्गव का कहना है कि उन्होंने ऑफिशियल यू-ट्यूब चैनल और रॉयल स्टेग बारेल सलेक्ट लार्ज शॉर्ट फिल्म के फेसबुक पेज पर शॉर्ट फिल्म जिया जाये देखी। वह यह देखकर हैरान रह गए कि फिल्म के कई दृश्य काफिरों की नमाज मूवी से हैं। भार्गव का कहना है कि जिया जाये के निर्माताओं ने उनकी प्रोडक्शन कंपनी लॉरिएन मोशन पिक्चर्स से अनुमति लिए बगैर उनकी मूवी के दृश्यों को फिर से इस्तेमाल कर लिया। बकौल भार्गव, उनमें से एक दृश्य जिया जाये के म्यूजिक वीडियो में इस्तेमाल किया गया। यह यूफोरिया के ऑफिशियल यू-ट्यूब चैनल और फेसबुक पेज पर रिलीज किया गया।
फिल्म के ट्रेलर में भी वह दृश्य था। भार्गव का आरोप है कि जिया जाये के मेकर्स ने टू कश्मीर, विद लव शीर्षक वाले वीडियो से भी दृश्यों को दोबारा इस्तेमाल किया। यह कश्मीर को ट्रिब्यूट वीडियो था, जिसको लॉरिएन मोशन पिक्चर्स ने प्रोड्यूस किया था। इन दृश्यों को कॉपी किया गया और पलाश सेन की मूवी में इस्तेमाल किया गया। टाइम 8 से बातचीत में भार्गव सैकिया ने कहा कि उनकी वकील रोहिणी वकील कपूर पहले ही पलाश सेन और रॉयल स्टेग बारेल सेलेक्ट लार्ज शॉर्ट फिल्म्स को लीगल नोटिस जारी कर चुकी है। इसमें 1957 के कॉपी राइट एक्ट की धारा 63 और 55 का जिक्र है। भार्गव ने कहा कि हालांकि सेन की मूवी कश्मीर में सेट है लेकिन संभवतया शूटिंग हिमाचल प्रदेश के नागर में हुई थी और उनको यह दिखाना था कि यह कश्मीर में शूट हुई है,इसलिए उन्होंने मेरी मूवी से दृश्य यूज किए। भागर्व ने कहा कि उन्होंने खुद के खर्चे पर कश्मीर जाने की कोशिश नहीं की। दो टूक उन्होंने मेरी फिल्म के दृश्य यूज कर लिए।