असम की लोक संस्कृति, खान पान, पहनावा, नाट्य विद्या और लोक गीतों की कला अब राजस्थान के शहरों गांवों तक पहुंचेगी। 

केंद्र के एक भारत श्रेष्ठ भारत योजना के तहत राज्य सरकार ने असम सरकार से एमओयू किया है। इसमें तय हुआ कि असम की संस्कृति का प्रचार राजस्थान में और राजस्थान की संस्कृति का प्रचार असम में किया जाएगा। 

इसके लिए कॉलेज शिक्षा, संस्कृत शिक्षा, तकनीकी शिक्षा, प्रारंभिक शिक्षा परिषद स्कूल कॉलेजों में कार्यक्रम आयोजित करेंगे। इसका उद्देश्य दोनों राज्यों की लोककला संस्कृति को बढ़ावा देना रहेगा। 

प्रारंभिक शिक्षा चित्तौडगढ़ जिला शिक्षा अधिकारी ने सर्व शिक्षा अभियान के जिला समन्वयकों और प्रारंभिक शिक्षा के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे पंचायत से ब्लॉक स्तर और जिला स्तर पर असम संस्कृति से संबंधी प्रतियोगिताएं जल्द से जल्द कराएं। प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने भी इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं। इन प्रतियोगिताओं में प्राथमिक मिडिल स्कूलों के शिक्षक भी भाग लेंगे।