असम से कांग्रेस विधायक ने मांग की है कि एनआरसी के फाइनल ड्राफ्ट के प्रकाशन से पहले भाजपा विधायक को घर में नजरबंद किया जाए। यह मांग असम की सारूखेत्री विधानसभा क्षेत्र से विधायक जाकिर हुसैन सिकदर ने की है। उन्होंने कहा है कि इस दौरान होजाई से भारतीय जनता पाटर्भ् के विधायक शिलादित्य देव को उनके घर में नजरबंद किया जाए।

सिकदर का कहना है कि 'शिलादित्य की सोच व विचार पूरी तरह से इरेशनल है तथा वो समुदायों के बीच सांप्रदायिक दंगे भड़का सकते हैं। इस वजह से एनआरसी पब्लिकेशन से पहले उनको अपने घर में ही नजरबंद कर दिया जाए।' आपको बता दें कि असम एनआरसी के फाइनल ड्राफ्ट का प्रकाशन 31 अगस्त 2019 तक किया जा रहा है।

इसके अलावा सिकदर ने कहा कि यदि होजाई विधायक को घर में नजरबंद कर दिया जाए तो फिर आर्मी जवानों और सिक्योरिटी से जुड़े लोगों की कोई जरूरत नहीं पड़ेगी। हालांकि असम पुलिस ने सभी तरह के पुख्ता इंतजाम किए हुए हैं।

इससे पहले 31 दिसंबर 2017 को एनआरसी का एक पार्ट जारी किया गया था, इसके बाद 30 जुलाई 2018 को कंप्लीट ड्राफ्ट जारी किया। इसमें 3,29,91,384 आवेदनकर्ताओं में से 2,89,83,677 आवेदक फाइनल ड्राफ्ट में सही पाए गए। इसके बाद 26 जून 2019 को एडिशनल ड्राफ्ट जारी किया गया जिसमें 1,02,462 लोग एनआरसी से बाहर हो गए। अब इन्हीं लोगों के लिए फाइनल ड्राफ्ट जारी किया जा रहा है।