मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने कहा है कि कुछ असमाजिक तत्व भाईचारे के माहौल को खत्म करने में जुटे हैं, लेकिन ऐसे लोगों को सहन हीं किया जाएगा। उन्होंने धुबड़ी के लोगों से नापाक इरादे वाले लोगों से सचेत रहने की अपील करते हुए उनसे आह्वान किया कि वे किसी भी कीमत पर अवैध घुसपैठियों का आश्रय स्थल इस समीई जिले को न बनने दें। 

बांग्लादेश से लगे मुस्लिम बहुल धुबड़ी जिले के गोलकगंज में उज्ज्वला मिशन की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के प्रत्येक सच्चे नागरिकों के अधिकारों पर किसी भी कीमत पर आंच नहीं आने दी जाएगी, वहीं अवैध तरीके से घुसे लोगों को हरगिज शरण नहीं दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने धुबड़ी जिले के विकास का भरोस लोगों को दिलाते हुए कहा कि आजादी के पहले से धुबड़ी का राज्य के नक्शे पर महत्वपूर्ण स्थान रहा है और राज्य सरकार इस सीमाई जिले के चहुंमुखी विकास के लिए काम कर रही है। 

उन्होंने कहा कि प्रदेश के विकास के लिए राज्य के सभी कोने का विकास जरूरी है अन्यथा यह प्रदेश कभी विकसित नहीं हो जाएगा। इस मौके पर स्थानीय विधायक अश्विनी राय सरकार के आग्रह को स्वीकार करते हुए मुख्यमंत्री ने गोलकगंज में साइंस कॉलेज की स्थापना के साथ गंगाधर नदी पर एक पुल के निर्माण की घोषणा की। सोनोवाल ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शरत चंद्र सिंहा के चारोप स्थित आवास को संरक्षित करने और इसके एक करोड़ की राशि जारी करने की घोषणा की  है।