भाजपा के मुस्लिम नेता ने ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन को गिरी हुई सेना बताया है। यह बात असम भाजपा अल्पसंख्या प्रकोष्ठ के मुखिया सैयद मोमिनुल अवल ने कही है। उन्होंने कहा कि मुसिलम को घुसपैठ से पहले ही इस संगठन को घुटने टिका दिए गए। अवल ने आसू द्वारा दिए गए उस वक्तत्य की निंदा की जिसमें कहा गया था राहुल गांधी असम के रक्षक हैं।

नेता ने कहा कि ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन तथा कांग्रेस एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। उन्होंने पूछा कि असम एनआरसी की फाइनल लिस्ट में लाखों मुस्लिम घुसपैठियों के नाम आने के बाद अब राहुल गांधी चुप क्यों हैं। इस लिस्ट को 31 अगस्त को जारी किया गया था जिसमें आवेदन करने वालों में से 3,11,21,004 लोगों को सूची में शामिल कर लिया गया, जबकि 19,06,657 लोगों के नाम नहीं आए।

उन्होंने कहा है कि असम के लोग आसू के प्रत्येक क्रियाकलाप पर नजर रखे हुए हैं। वो लोग इस संगठन को नहीं भूलेंगे। यह संगठन अब चुप क्यों है जब लाखों मूल निवासियों के इस लिस्ट में नाम नहीं आए और घुसपैठियो के आ गए। उन्होंने यह भी कहा कि मैं संगठन से अपील करता हूं कि वो असमी समुदाय के भले के लिए काम करे।