चुनाव आयोग (ईसी) ने शनिवार को दक्षिणी असम के तीन विधानसभा क्षेत्रों के चार मतदान केंद्रों पर फिर से मतदान करने का आदेश दिया है, जहां एक अप्रैल को दूसरे चरण के अंतर्गत मतदान हुए थे।चुनाव आयोग के सचिव अजय कुमार वर्मा ने असम के मुख्य निर्वाचन अधिकारी नितिन खाडे को लिखे पत्र में कहा कि सभी रिपोर्ट और अन्य परिस्थितियों को देखते हुए, चुनाव आयोग ने 20 अप्रैल को चार मतदान केंद्रों में फिर से मतदान करने का आदेश दिया है।

चुनाव आयोग के आदेश का हवाला देते हुए, चुनाव अधिकारियों ने कहा कि रतबारी (एससी) विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत इंदिरा एम.वी. स्कूल (दाएं), सोनई विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत मध्य ढेंचरी लोअर प्राइमरी स्कूल, हलफलांग (एसटी) विधानसभा सीट के तहत, खोथलीर लोअर प्राइमरी स्कूल और मुआलदाम लोअर प्राइमरी स्कूल में दोबारा चुनाव होंगे। सोनई क्षेत्र के भाजपा उम्मीदवार अमीनुल हक लश्कर से दो बार पूछताछ की गई, जबकि उनसे जुड़े पांच पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया। पुलिसकर्मियों दूसरे चरण के मतदान के दौरान 1 अप्रैल को जनता पर कथित रूप से गोलियां चलाईं थी।

कछार के उपायुक्त (डीसी) कीर्ति जल्ली ने घटना की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं। जिला विकास आयुक्त बी.सी. दास को जांच करने और इस संबंध में एक रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है। लश्कर ने हालांकि, मीडिया को बताया कि प्रतिद्वंद्वी राजनीतिक दलों के बीच झड़प के दौरान सुरक्षाकर्मियों ने अपनी जान बचाने के लिए गोली चलाई। विपक्षी दलों ने उनकी गिरफ्तारी की मांग की है। असम के दीमा हसाओ जिले में कम से कम छह मतदान कर्मियों को निलंबित कर दिया गया, क्योंकि यह पाया गया कि 1 अप्रैल को दूसरे चरण के मतदान के दौरान 90 वैध मतदाताओं ने खोथलीर लोअर प्राइमरी स्कूल में 180 वोट रजिस्टर किए थे।