दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने मुफ्त राशन योजना (Free Ration Scheme) को छह महीने के लिए बढ़ाने की घोषणा की। केजरीवाल ने ट्वीट कर आज कहा, महंगाई बहुत ज्यादा हो गई है। आम आदमी को दो वक्त की रोटी भी मुश्किल हो रही है। कोरोना की वजह से कई बेरोजगार हो गए प्रधानमंत्री जी, गरीबों को मुफ्त राशन देने की इस योजना को कृपया छह महीने और बढ़ाया जाए। दिल्ली सरकार अपनी फ्री राशन योजना छह महीने के लिए बढ़ा रही है। 

केंद्र द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएमजीकेएवाई) (PMGKAY) के तहत मुफ्त राशन वितरण (Free Ration Scheme) को 30 नवंबर से आगे बढ़ाने से इनकार करने के बाद केजरीवाल सरकार ने यह निर्णय लिया है। गौरतलब है कि पीएमजीकेएवाई के तहत सरकार राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून (national food security law) (एनएफएसए) के तहत 80 करोड़ राशन कार्डधारकों (ration card holders) को मुफ्त राशन की आपूर्ति करती है। दरअसल, पिछले साल जब कोरोना महामारी की वजह से देशव्यापी लॉकडाउन (corona lockdowan) लगा था तब केंद्र सरकार ने देश की 80 करोड़ जरूरतमंद आबादी को मुफ्त में अतिरिक्त राशन देने का ऐलान किया था। 

इस योजना के तहत हर परिवार को प्रति व्यक्ति 5 किलोग्राम के हिसाब से हर महीने मुफ्त राशन (गेहूं-चावल) दिया जाता है। यह अनाज हर महीने सरकारी राशन की दुकान से मिलने वाले अनाज के अतिरिक्त है। शुरुआत में यह योजना तीन महीने के लिए थी लेकिन इसे कई बार बढ़ाया गया और अब उसकी मियाद 30 नवंबर को खत्म होने जा रही है। एक दिन पहले ही शुक्रवार को केंद्रीय खाद्य सचिव सुधांशु पाण्डेय (Sudhanshu Pandey) ने कहा है कि मुफ्त राशन की योजना को 30 नवंबर से आगे भी बढ़ाने का कोई प्रस्ताव नहीं है। उन्होंने इसके पीछे इकॉनमी में रिकवरी, खुले बाजार में अनाज की पर्याप्त उपलब्धता की दलील दी है।