अरुणाचल प्रदेश में दो दिन पहले उग्रवादी हमले में मारे गए नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के विधायक तिरोंग अबो ने विधानसभा चुनाव में खोंसा पश्चिम सीट पर एक हजार 55 वोटों से जीत दर्ज की है। उन्हें कुल 5 हजार 366 वोट मिले और वोट शेयर की बात करें तो यह उस सीट के कुल वोटों का 55.36 फीसदी है। अरुणाचल प्रदेश में विधनसभा की 60 सीटें हैं और अबो इस सीट से दोबारा चुनाव लड़ रहे थे।


गौरतलब है कि अरुणाचल प्रदेश की 60 सीटों पर हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने बाजी मारी है और यहां 33 सीटों पर जीत दर्ज की है। वहीं कांग्रेस सिर्फ 4 सीटों पर चुनाव जीती है और एनपीपी को 5 सीटें मिली हैं।


चुनाव परिणाम आने से ठीक दो दिन पहले 21 मई को अरुणाचल में उग्रवादियों ने तिरोंग अबो समेत 11 लोगों की हत्या कर दी थी। मरने वालों में उनके बेटे समेत परिवार के भी कई लोग शामिल हैं। तिरोंग पर उग्रवादियों ने उस वक्त हमला किया जब उनका काफिला इलाके से गुजर रहा था। इस हमले में उनके निजी सुरक्षा अधिकारी को भी गोली लगी थी। अबो के पीएसओ को अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।


नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नगालैंड के उग्रवादियों पर इस हत्याकांड को अंजाम देने का आरोप है। घटनास्थल से जो तस्वीरें सामने आई थीं वे बेहद खौफनाक हैं। उग्रवादियों ने गाड़ी पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं और उसमें मौजूद सभी लोगों को भून डाला था।


पूरे देश में मोदी लहर की तरह अरुणाचल में भी लोगों ने पीएम मोदी और बीजेपी पर भरोसा जताया है। राज्य में बीजेपी की सरकार बननी तय है। अरुणाचल प्रदेश में अगर वोट शेयर की बात करें तो बीजेपी को सबसे ज्यादा 51.17 फीसदी वोट मिले हैं जबकि कांग्रेस को 17.38 फीसदी वोट मिले हैं।