अरुणाचल प्रदेश से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। खबर यह है कि अरुणाचल प्रदेश के राज्य लोक सेवा आयोग ने पिछले महीने संयुक्त प्रतियोगी प्रारंभिक परीक्षा में जो सवाल पूछे थे वे पाकिस्तान की एक वेबसाइट से लिए गए थे।

प्रारंभिक परीक्षा में जो अजीबो गरीब सवाल पूछे गए थे उनका उम्मीदवारों के लिए कोई सेंस नहीं था। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एग्जाम में पूछे गए आधे से ज्यादा सवाल डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डॉट सीएसएसफोरम डॉट कॉम डॉट पीके से लिए गए थे।

बताया जा रहा है कि यह पाकिस्तान में सिविल सर्विसेज एग्जामिनेशंस की रिसोर्स वेबसाइट है। यही नहीं कुछ सवाल 2008 में संघ लोक सेवा आयोग की ओर से लिए गए एग्जाम से उठाए गए। यह खुलासा किया है एग्जाम देने वाले उम्मीदवारों ने। समाज शा में 90 फीसदी सवाल कथित रूप से ऑनलाइन डिस्कशन फोरम
से लिए गए थे।

पशुचिकित्सा के प्रश्न पत्र में 60 सवाल ऑनलाइन क्वेस्चन बैंक वेटस्कैन से थे। एक उम्मीदवार ने बताया कि उन्होंने क्रॉस चेक किया और पाया कि वे पाकिस्तान रिसोर्स साइट से सीधे सीधे कॉपी किए गए। सामान्य अध्ययन, समाजशा व राजनीतिकि विज्ञान के कुछ सवाल विदेश से संबंधित थे। सूत्रों के मुताबिक परीक्षा के लिए जो प्रश्न पत्र तैयार किए गए वे फोटो कॉपी थे और कुछ में छेडख़ानी भी की गई।

इस बीच ईटानगर के पास स्थित राजीव गांधी यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर नानी बाथ ने कहा कि कमेटी ने सोमवार को अरुणचाल प्रदेश लोक सेवा आयोग के लिए एक डेडलाइन सेट की है। अरुणाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग को तीन माह के अंदर प्रारंभिक परीक्षा करानी होगा। साल 2015 में अरुणाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग का एक प्रश्न पत्र कथित रूप से लीक हो गया था। इस कारण आयोग के चार अधिकारियों को बर्खास्त किया गया था।