भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) को अरुणाचल प्रदेश में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास 20 स्वचालित मौसम स्टेशन (AWS) और रेन गेज स्थापित करने के लिए सेना से NOC (अनापत्ति प्रमाण पत्र) मिला गया है। आईएमडी के अधिकारियों ने कहा कि सीमावर्ती राज्य में 20 और मौसम स्टेशन (weather stations) स्थापित करने की योजना चल रही है और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) से एक एनओसी की प्रतीक्षा की जा रही है।

आईएमडी (IMD) के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र के प्रमुख केएन मोहन ने बताया कि चीन सीमा (China Border) के करीब कठिन पहाड़ी इलाके में तैनात रक्षा बलों को लाइव मौसम अपडेट देने के लिए एक पहल की गई है। नए मौसम केंद्र भारतीय बलों (indian army) की बहुत मदद करेंगे। हमें उम्मीद है कि यह उनके काम को आसान कर देगा और समय पर अपडेट देकर कठोर मौसम की स्थिति के दौरान बहुमूल्य जीवन बचाएगा। उन्हें मौसम कार्यालयों से मौसम अपडेट की प्रतीक्षा नहीं करनी पड़ेगी। 

उन्होंने कहा कि सीमांत राज्य में ऊंचाई वाले इलाकों में मौसम का उतार-चढ़ाव बहुत अधिक होता है। इस महीने की शुरुआत में कामेंग सेक्टर में हिमस्खलन (avalanche) की चपेट में आने से सात भारतीय सैनिकों की मौत हो गई थी। आईएमडी ने देश में 400 एडब्ल्यूएस (400 ADWS) स्थापित करने की एक परियोजना में तेजी लाई है और इनमें से एक चौथाई मौसम केंद्र पूर्वोत्तर में स्थापित किए जाएंगे, जिसमें अरुणाचल में 40 शामिल हैं।मौसम अधिकारियों ने कहा कि पिछले अनुभव कहते हैं कि सीमा क्षेत्र में त्वरित मौसम अपडेट रक्षा बलों की सुनियोजित तैनाती, तोपखाने की आवाजाही में मदद करता है। सुरक्षा कारणों से अरुणाचल में मौसम स्टेशनों की स्थापना के वास्तविक बिंदुओं का खुलासा नहीं किया गया है। मौसम सूत्रों ने कहा कि एलएसी के 1 से 20 किमी के बीच सभी 40 मौसम केंद्र स्थापित किए जाने की संभावना है।