सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे केंद्र शासित प्रदेश के वर्तमान सुरक्षा हालात का जायजा लेने दो दिवसीय दौरे पर बुधवार को जम्‍मू कश्मीर पहुंचे थे। भारत और पाकिस्तान के बीच नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम जारी रहने के 100 दिन पूरे होने पर सेना अध्यक्ष का दौरा हो रहा है। उन्‍होंने इस दौरान कई अग्रिम चौकियों का दौरा भी किया। वह गुरुवार को श्रीनगर में इस संबंध में प्रेस कॉन्‍फ्रेंस भी करेंगे।

सेना के एक अधिकारी ने बताया कि श्रीनगर पहुंचने के बाद जनरल नरवणे ने सेना की उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल वाई के जोशी और चिनार कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डीपी पांडे के साथ आंतरिक इलाकों की इकाइयों का दौरा किया जहां पर स्थानीय कमांडरों ने सुरक्षा की वर्तमान स्थिति के बारे में सेना प्रमुख को अवगत कराया।

अधिकारी ने बताया कि जनरल नरवणे को युवाओं को कट्टरपंथी गतिविधियों और आतंकवादी रैंकों पर भर्ती करने में शामिल लोगों की पहचान करने और उन्हें नाकाम करने को लेकर किए जा रहे उपायों के बारे में भी जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि स्थानीय आतंकवादियों के आत्मसमर्पण और युवाओं को आतंकी गतिविधियों में शामिल होने से रोकने के प्रयासों पर भी चर्चा की गई। सैनिकों से बातचीत के दौरान सेना प्रमुख ने जवानों और कमांडरों को कोविड-19 और पाकिस्तान समर्थित आतंकवाद की दोहरी चुनौतियों से लगातार लड़ने के लिए उनकी सराहना भी की।

इस बीच, जनरल नरवणे ने बुधवार शाम को जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से राजभवन में मुलाकात की और वर्तमान चुनौतियों के साथ ही केंद्र शासित प्रदेश में लंबे समय के लिए शांति बरकरार रखने को लेकर चर्चा की।