पत्थरबाज को जीप से बांधकर घुमाने वाले मेजर गोगोई एक नए विवाद में फंस गए हैं। मेजर लीतुल गोगोई पर अब भारतीय सेना भी सख्त हो गई है। आर्मी चीफ बिपिन रावत का कहना है कि अगर मेजर गोगोई ने कोई गलत काम किया है तो उन्हें उचित दंड दिया जाएगा।


बता दें कि पत्थरबाज को जीप से बांधकर घुमाने वाले मेजर गोगोई एक नए विवाद में फंस गए हैं। उन पर आरोप है कि जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में एक होटेल में वह एक महिला के साथ घुसे थे। इसको लेकर विवाद भी हुआ था और उन्हें हिरासत में लेने के बाद छोड़ दिया गया था।


आर्मी चीफ बिपिन रावत ने कहा, 'भारतीय सेना में यदि कोई किसी भी रैंक पर कुछ गलत करता है और यह हमारी नोटिस में आता है तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अगर मेजर गोगोई ने कुछ गलत किया है तो मैं कह सकता हूं कि उन्हें उचित दंड दिया जाएगा और दंड भी ऐसा होगा जो एक उदाहरण स्थापित करेगा।'


बता दें कि बुधवार को एक होटेल में महिला संग घुसने से रोके जाने के बाद विवाद हुआ और होटेल वालों ने पुलिस बुलाई, जिसके बाद पुलिस ने मेजर गोगोई को हिरासत में लिया और पूछताछ के बाद छोड़ दिया। मैजिस्ट्रेट के सामने महिला का बयान दर्ज कराए जाने के बाद उन्हें भी छोड़ दिया गया। तमाम दस्तावेजों के आधार पर यह साबित हुआ है कि महिला नाबालिग नहीं हैं। पुलिस जांच कर रही है, लेकिन महिला के परिवार की मांग है कि यह केस बंद कर दिया जाए।


वहीं सीमा पर तनाव को लेकर आर्मी चीफ ने कहा कि संघर्ष विराम को बढ़ाया जा सकता है लेकिन उसकी पहल पाकिस्तान को ही करनी होगी। उन्होंने कहा, 'हम सीमा पर शांति चाहते हैं लेकिन आप जानते ही हैं कि पाकिस्तान लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है जिससे जान-माल का नुकसान हो रहा है। ऐसी स्थिति में हमें पलटवार करना है लेकिन अगर पाकिस्तान शांति चाहें, तो हम उनसे इसकी पहल करने की उम्मीद करते हैं।'


उन्होंने कहा, 'हमने लोगों को शांति का वातावरण दिखाने के लिए फिलहाल ऑपरेशन रोक दिया है और हमें यकीन है कि लोग खुश हैं, अगर चीजें इसी तरह होती रहेंगी तो हम कह सकते हैं कि नॉन-इनिशिएशन ऑफ कॉम्बैट ऑपरेशन्स (एनआईसीओ) को जारी रखने के बारे में सोचा जा सकता है लेकिन अगर आतंकी गतिविधियां होती रहेंगी तो हम ऐसा नहीं कर सकेंगे।'