ग्रीफ आर्मी में अनुबंध के आधार पर दो वर्षों से नौकरी कर रहे गांव हसंगा के युवक की पहाड़ से 300 मीटर खाई में गिर जाने से मौत हो गई है। उसका शव रविवार की सुबह घटना के 4 दिन बाद अरुणाचल प्रदेश से गांव हसंगा पहुंचा है। मृतक के शव के पहुंचते ही पूरे घर में कोहराम मच गया। रविवार की सुबह साढ़े 9 बजे गमगीन माहौल में युवक के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

जानकारी के अनुसार 22 वर्षीय राहुल बिश्नोई पुत्र निहाल सिंह धारणिया करीब 2 साल पहले अरुणाचल प्रदेश में अनुबंध के आधार पर ग्रीफ आर्मी में नौकरी कर रहा था, जो सेना के लिए बॉर्डर पर रास्ता बनाने का कार्य करता था। बीते गुरुवार को राहुल बिश्नोई शाम के समय पहाड़ पर क्रेन से रास्ता बनाने के लिए लगा हुआ था। परंतु अचानक क्रेन मशीन पत्थर से खिसककर खाई में जा गिरी। जिसमें राहुल विश्नोई पहाड़ से 300 मीटर गहरी खाई में जा गिरा और उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

ग्रीफ आर्मी रास्ता बनाने वाले ठेकेदार ने घटना की सूचना मृतक राहुल बिश्नोई के पिता निहाल सिंह धर्निया को दी। जिसके बाद पूरे परिवार के लोग गहरे सदमे में थे। शनिवार को हवाई जहाज के द्वारा गुवाहाटी से दिल्ली राहुल बिश्नोई के शव को लाया गया। परिजन दिल्ली से देर रात्रि को एंबुलेंस के द्वारा हसंगा रविवार की अलसुबह शव को लेकर पहुंचे।

गांव वासियों ने बताया कि वह घर का इकलौता लड़का था जो परिवार का पालन पोषण कर रहा था, जिसके बाद लोगों ने जिला प्रशासन से मांग करते हुए कहा पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता करने के साथ-साथ घर के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए।