कांग्रेस ने गुजरात कैडर के भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारी राकेश अस्थाना को दिल्ली पुलिस आयुक्त बनाए जाने पर सवाल उठाते हुए कहा है कि सरकार अधिकारियों की नियुक्ति में मनमानी कर रही है और नियुक्ति संबंधी व्यवस्था को तोड़ रही है। 

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने बुधवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राकेश अस्थाना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के चहेत अधिकारी है इसलिए गुजरात कैडर के अधिकारी को उच्चतम न्यायालय के आदेश की परवाह किए बिना दिल्ली पुलिस का आयुक्त बनाया है। 

उन्होंने अस्थाना की नियुक्ति को न्यायालय के आदेश की अवहेलना बताया और कहा कि न्यायालय के दिशा निर्देशों के अनुसार यदि किसी अधिकारी की सेवानिवृत्ति के छह महीने से कम रह जाते हैं तो उसे इस स्तर के पद पर नियुक्त नहीं किया जा सकता लेकिन श्री अस्थाना के चार माह रह गए थे फिर भी उन्हें नियुक्ति दी गई। 

प्रवक्ता ने कहा कि मोदी और शाह की जोड़ी हर जगह गुजरात कैडर के अधिकारियों को भर रहे हैं और नियमों की अनदेखी कर रहे हैं। उनका कहना था कि गुजरात कैडर के अधिकारी को दिल्ली पुलिस का उपायुक्त बनाकर यूनियन टेरिटरी कैडर के अधिकारियों की अनदेखी की गई है।