Apple कंपनी ने हाल ही में अपनी AirTags डिवाइस लॉन्च की थी। यह एक ट्रैकिंग डिवाइस है, जिसका यूज किसी डिवाइस या दूसरे आइटम्स को ट्रैक करने हेतु किया जाता है। अब Apple AirTags की मदद से पुलिस ने चोरी के एक केसेज को सुलझाने में कामयाबी हासिल की है। इस डिवाइस ने चोरी के केस को सॉल्व करने में मदद की।

दरअसल, अमेरिका के Texas में एक ड्राइवर अपने काम पर जा रहा था। उसकी समय उसके एपल iPhone पर अलर्ट आया कि एक AirTag उसे फॉलो कर रहा है। इस घटना की जानकारी ड्राइवर ने पुलिस को दी। इसके बाद उसकी सीट्स के बीच में एक एयरटैग मिला।

बताया गया है कि ड्राइवर ने हाल में ही इस ट्रक को 800 डॉलर की डाउन पेमेंट देकर खरीदा था। हालांकि, पुलिस जांच में पता चला कि उसने जो ट्रक खरीदा था वह चोरी का था। इसके बाद पुलिस को Vehicle Identification Number पर शक हुआ।

पुलिस जांच में पता चला कि इस ट्रक की मिसिंग रिपोर्ट दर्ज थी। पुलिस के अनुसार AirTag को संभवतः इसलिए रखा गया था कि ट्रक को वापस चुराया जा सके। आखिर में ट्रक पुराने मालिक को मिल गया। हालांकि, जिस आदमी ने ट्रक खरीदा था, उसका डिपॉजिट फंस गया। पुलिस अब ठगों को पकड़े की कोशिश कर रही है।

Apple ने AirTags को इस तरह से डिजाइन किया है कि जब कोई एयरटैग जो उनके फोन से लिंक ना हो और उन्हें ट्रैक कर रहा हो तो यूजर्स को इसका नोटिफिकेशन iPhone पर मिल जाता है। एपल ने इस फीचर को लोगों को stalking से बचाने के लिए जारी किया है।

एपल की AirTags डिवाइस का यूज आप Find My की मदद से कर सकते हैं। इसकी सहायता से एयरटैग की लास्ट लोकेशन और करेंट लोकेशन की जानकारी प्राप्त हो जाती है। किसी आइटम की लोकेशन बताने के लिए यह Ultra-wideband (UWB) टेक्नोलॉजी का यूज करते हैं। ऐपल ने इसमें U1 चिप दिया है जिसमें NFC और ब्लूटूथ LE कनेक्टिविटी रहती है।