पंजाब किंग्स के खिलाफ 20 अप्रैल को खेले जाने वाले मैच से पहले दिल्ली कैपिटल्स का एक और विदेशी खिलाड़ी कोरोना संक्रमित पाया गया है। बुधवार की सुबह कैपिटल्स दल के सभी सदस्यों का चौथा आरटी-पीसीआर टेस्ट कराया गया। इस टेस्ट से पहले एक विदेशी खिलाड़ी की रैपिड एंटीजन टेस्ट में रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। फिलहाल आरटी-पीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट का इंतजार है और इस खिलाड़ी की पहचान को गुप्त रखा गया है। 

ये भी पढ़ेंः भारतीय वायुसेना ने दागी ताबड़तोड़ मिसाइलें, पलभर में छलनी हो गया दुश्मन का जहाज!


इस घटनाक्रम से बुधवार शाम को होने वाले मुक़ाबले पर एक बार फिर से संदेह बन गया है। यह पता चला है कि आईपीएल प्रबंधन ने दिल्ली कैपिटल्स के सभी सदस्यों को एक और कोरोना टेस्ट से गुजरने को कहा है जिसके बाद बुधवार शाम को होने वाले मैच पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा। इसी बीच पंजाब किंग्स की टीम मैदान के लिए रवाना हो रही है। हालांकि, आईपीएल प्रबंधन के पास विकल्प है कि वह इस मैच को किसी अन्य तारीख पर दोबारा आयोजित कर सकते हैं। यह पहला मौका नहीं है जब कैपिटल्स की टीम में कोई कोरोना संक्रमित पाया गया है। इससे पहले 16 अप्रैल को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ हुए मुकाबले से एक दिन पहले टीम के फीजियो पैट्रिक फरहार्ट कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसके दो दिन बाद टीम के ऑलराउंडर मिचेल मार्श, फिजियो पैट्रिक फरहार्ट , स्पोट्स मसाज थेरपिस्ट चेतन कुमार, टीम डॉक्टर अभिजीत साल्वी और सोशल मीडिया सदस्य आकाश माने पॉजिटिव पाए गए थे। 

ये भी पढ़ेंः ये है दुनिया का सबसे महंगा स्टॉक, एक शेयर कीमत 4 करोड़ रुपये, जानिए क्यों


यही वजह थी कि आईपीएल प्रबंधन ने इस मैच को पुणे से मुंबई स्थानांतरित कर दिया था। आईपीएल के नियमों के अनुसार अगर कोई खिलाड़ी टूर्नामेंट के बबल में पॉजिटिव पाया जाता है तो उसे कम से कम सात दिन तक क्वारंटीन में रहना होगा। बबल में फिर से प्रवेश करने के लिए 24 घंटे के भीतर उनके दो आरटी-पीसीआर टेस्ट निगेटिव आने चाहिए। अगर किसी टीम के एक से अधिक खिलाड़ी कोविड पॉजिटिव हैं, तो भी कम से कम 12 खिलाड़ी उपलब्ध होने पर वे मैच खेल सकते हैं, जिनमें कम से कम सात भारतीय खिलाड़ी और एक सब्स्टीट्यूट का होना अनिवार्य है। 12 से कम खिलाड़ी उपलब्ध होने पर आईपीएल प्रबंधन अंतिम निर्णय लेगा। इस नए केस ने सभी टीमों और आईपीएल को असमंजस में डाल दिया है।