उत्तर प्रदेश में कोरोना से अब तक तीन मंत्रियों की मौत हो चुकी है। मंगलवार को राज्य के बाढ़ नियंत्रण और राजस्व राज्य मंत्री विजय कश्यप की गुड़गाँव के मेदांता अस्पताल में मौत हो गई। वे 56 साल के थे। मुज़फ़्फ़रनगर के चरथावल विधानसभा क्षेत्र से विधायक विजय कश्यप पिछले हफ़्ते ही संक्रमित हुए थे।

उन्हेंआरएसएस का क़रीबी माना जाता था और अगस्त 2019 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी कैबिनेट का विस्तार किया था तो उसमें विजय कश्यप को भी शामिल किया था।

इससे पहले कोरोना की पहली लहर में दो और मंत्री चेतन चौहान और कमल रानी वरुण की मौत हुई थी। योगी आदित्यनाथ ने विजय कश्यप की मौत पर शोक व्यक्त किया है।

मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ''उत्तर प्रदेश सरकार में मेरे सहयोगी तथा राजस्व व बाढ़ नियंत्रण राज्यमंत्री श्री विजय कश्यप जी का निधन अत्यंत दुखद है। प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को अपने परम धाम में स्थान व शोकाकुल परिजनों को यह दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें। ॐ शांति।''

विजय कश्यप के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर दुख जताया है। पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में कहा है, ''भाजपा नेता और उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री विजय कश्यप जी के निधन से अत्यंत दुख हुआ है। वे ज़मीन से जुड़े नेता थे और सदा जनहित के कार्यों में समर्पित रहे। शोक की इस घड़ी में उनके परिजनों और प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं। ओम शांति!''