अंकिता सिंह हत्याकांड के मुख्य आरोपी शाहरूख के बाद अब पुलिस के हत्थे नईम अंसारी उर्फ छोटू खान को गिरफ्तार किया है। बताया जाता है कि शाहरुख के लिए नईम ही पेट्रोल लेकर आया था, जिसे अंकिता के ऊपर डालकर आग लगा दी गई थी। एसपी अंबर लकड़ा ने कहा कि हत्याकांड के दूसरे आरोपी नईम उर्फ छोटू खान को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी को दुमका कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। 

ये भी पढ़ेंः फिर बोतल से बाहर आने वाला था राफेल डील मामला, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने दे दिया बड़ा झटका


वहीं मौत से पहले अस्पताल में इलाज के दौरान रिकॉर्ड किए गए वीडियो में आग में झुलसी अंकिता कहती नजर आ रही है, सोमवार रात को हमने पापा को शाहरुख के बारे में बताया था. पापा ने कहा कि सुबह देखते हैं, लेकिन सुबह वह खिड़की से हम पर पेट्रोल डालकर, आग लगाकर भाग गया। शाहरुख के साथ उसका दोस्त छोटू खान भी था। हमने खिड़की से दोनों को भागते हुए देखा था। यह बयान दर्ज कराने के बाद पीड़िता अंकिता को 23 अगस्त के दिन दुमका में प्राथमिक इलाज के बाद रांची के रिम्स भेज दिया गया था। 90 फीसदी झुलसी अंकिता की बीते शनिवार रात को मौत हो गई थी।

ये भी पढ़ेंः लगातार बढ़ती जा रही हैं क्रूड ऑयल की कीमतें, जानिए आज क्या है पेट्रोल और डीजल के भाव


सोमवार सुबह दुमका के जरूआडीह मुहल्ले से अंकिता की अंतिम यात्रा पुलिस के भारी पहरे के बीच निकली। अंतिम यात्रा में हजारों लोग शामिल रहे, जो अंकिता के हत्यारे को फांसी देने की मांग कर रहे थे। उसके दादा अनिल सिंह ने मुखाग्नि दी, तो वहां मौजूद लोगों की आंखें नम हो उठीं। पिता, भाई और परिजन दहाडें मारकर रोने लगे। अंतिम यात्रा में जिले के डीसी रविशंकर शुक्ला और एसपी अंबर लकड़ भी मौजूद रहे। लोग इस बात पर भी गुस्से में हैं कि अंकिता जब अस्पताल में जिंदगी-मौत से जूझ रही थी, तब सरकार के किसी नुमाइंदे ने उसकी और उसके परिजनों की सुध नहीं ली।